4 देशों को जोड़ेगी भारत-बांग्लादेश रेलसेवा, मोदी आज दिखाएंगे हरी झण्डी

नई दिल्ली (8 अप्रैल): भारत और बांग्लादेश रेल यातायात एक बार फिर शुरू किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  8 अप्रैल शनिवार यानी आज  इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाएंगे। भारत-बांग्लादेश के बीच चलने वाली इस ट्रेन से नेपाल और भूटान भी जुड़ेंगे। चार देशों को जोड़ने वाली इस नई ट्रेन से सीमा पार के इलाकों में व्यापार और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।इसी सिलसिले में बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना चार दिवसीय यात्रा पर दिल्ली पहुंच चुकी हैं। 


1965 में भारत पाकिस्तान युद्ध के दौरान इस ट्रेन को बंद कर दिया गया था क्योंकि उस वक्त बांग्लादेश पूर्वी पाकिस्तान हुआ करता था। 1965 के युद्ध के दौरान सीमापार के सभी रेल रूट बंद कर दिए गए थे। साथ भारत ने अपनी रेल लाइनों को मीटर गेज से बदलकर ब्रॉड गेज कर लिया था जिससे यह रूट पूरी तरह से बंद हो गया था। यह ट्रेन भारत-बांग्लादेश सीमा, चिलाहाटी से हल्‍दीबारी, बिराल से राधीकापुर, बीनापोल से पेट्रापोल, रोहानपुर से सिंघाबाद, शाहबाजपुर से मोहिसान और बूरीमारी से चांगराबंधा होकर गुजरेगी।


ढाका के एक अधिकारी ने मीडिया को बताया है कि यह रेल शुरू होने से काफी समय से बंद पड़े रेल रूट फिर से शुरू हो पाएंगे, साथ ही जहां से ट्रेन गुजरेगी उन इलाकों के आस पास व्यापार और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। अभी भारत बांग्लादेश के बीच कोलकाता से ढाका तक मैत्री एक्सप्रेस चल रही है जिसे 2008 आठ में फिर से शुरू किया गया था। यह ट्रेन अभी दोनों ओर से एक सप्ताह में तीन बार चलती है।