गुनाहों से बचने के लिए करोड़ों की मालकिन बन गई संन्यासी !

जयपुर (3 जून): राजस्थान के चर्चित भंवरी देवी हत्याकांड में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। ATS ने इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी और मास्टरमाइंड इंदिरा विश्नोई को मध्य प्रदेश के देवास से गिरफ्तार किया है। जांच एजेंसियों की आंख में धूल झोंकने के लिए करोड़ों की जायदाद की मालकिन एक संन्यासीन की झूठी जिंदगी जी रही थी। 

इतना ही नहीं इंदिरा विश्नोई ने अपना नाम बदलकर गीता बाई रख लिया था और दिखावे के लिए नर्मदा के तट पर बने एक आश्रम में पूजा-पाठ के लिए भी आती थी। फिलहाल जांच एजेंसिया इंदिरा विश्नोई से पूछताछ कर रही है।

आरोप है कि इंदिरा विश्नोई ने महिपाल मदरेणा और अपने भाई मलखान सिंह के साथ मिलकर भंवरी का अपहरण करवाकर उसकी हत्या करवा दी।