इंडिगो को 657.28 करोड़ रुपए का मुनाफा, ऐसे तोड़ा 10 साल का रिकॉर्ड

नई दिल्ली (22 जनवरी): एविएशन कंपनी इंडिगो ने वित्‍त वर्ष 2015-16 के थर्ड क्वार्टर में 657.28 करोड़ रुपए का प्रॉफिट कमाया है। 24 फीसदी का ये प्रॉफिट इंडिगो के लिए पिछले 10 सालों में हुए प्रॉफिट में सबसे ज्यादा है।

कैसे मिला इतना फायदा इंडिगो के प्रेसिडेंट और पूर्णकालिक निदेशक आदित्य घोष ने बताया कि मुनाफा बढ़ने की प्रमुख वजह पैसेंजर ट्रैफि‍क में इजाफा और कॉस्‍ट कंट्रोल के लिए उठाए गए कदम हैं। इसके अलावा ईंधन कीमतों में नरमी तथा यात्री आय बढ़ने से भी मुनाफा बढ़ा है। इससे पहले दिसंबर, 2014 में समाप्त तिमाही में कंपनी को 531.57 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ था।

12 फीसदी बढ़ा रेवेन्यु इंडिगो ने 2015-16 में 12 फीसदी की बढ़ोत्तरी के साथ 4,407.5 करोड़ रुपए का रेवेन्यु अर्जित किया। जबकि बीते साल समान क्वार्टर में रेवेन्यु का आंकड़ा 3,938.79 करोड़ रुपए रहा था। 

लास्ट क्वार्टर में 83 लाख लोगों ने की यात्रा दिसंबर क्वार्टर के दौरान इंडिगो ने 83.3 लाख यात्रियों को सेवाएं दी थीं, जबकि एक साल पहले समान क्वार्टर में 65.3 लाख यात्रियों को ही सेवाएं दी थीं।

एविएशन कंपनियों के एक्सपेंडिचर में क्रूड की हिस्सेदारी लगभग 40 फीसदी होती है। इन दिनों ग्लोबल मार्केट में क्रूड लगभग 12 साल के निचले स्तर पर चल रहा है। एविएशन कंपनियों को इसका भी खासा फायदा मिल रहा है।