येरूशलम पर भारत ने कहा, फिलिस्तीन पर हमारे रुख में कोई बदलाव नहीं

नई दिल्ली ( 7 दिसंबर ): दुनिया भर के देशों के विरोध के बावजूद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने येरुशलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता दे दी है। उन्होंने अमेरिकी प्रशासन को अपना दूतावास तेव अवीव से येरुशलम स्थानांतरित करने की प्रक्रिया तुरंत शुरू करने को कहा है। बुधवार को यह घोषणा करते हुए ट्रंप ने कहा, ‘यह लंबे समय से अपेक्षित था।’ 

यरुशलम को इज़राइल की राजधानी के तौर पर मान्यता दिये जाने पर भारत ने प्रतिक्रिया दी है और कहा कि इस मसले पर उसके रुख में कोई बदलाव नहीं आया है। भारती विदेश मंत्रालय ने ट्रंप के इस कदम पर अपना रुख साफ करते हुए कहा है, 'फिलिस्तीन पर भारत का रुख़ स्वतंत्र और उसमें कोई बदलाव नहीं हुआ है। ये हमारे अपने हित और दृष्टिकोण पर निर्भर करता है और किसी तीसरे देश के कारण निर्धारित नहीं होता।'

इस विवादित फैसले के बारे में ट्रंप ने अपने 2016 राष्ट्रपति चुनाव के दौरान वादा भी किया था, जिसका उनके समर्थकों ने स्वागत किया था। ट्रंप ने लाइव टीवी प्रसारण में यह बात कही। उन्होंने कहा, 'मैंने निर्धारित किया है कि यह समय यरुशलम को इज़राइल की राजधानी के तौर पर आधिकारिक पहचान मानने का है।' साथ ही उन्होंने विदेश मंत्रालय को तत्काल यरुशलम में अमेरिकी दूतावास बनाने के भी निर्देश दिए।