महंगाई के बावजूद पेट्रोल-डीजल की खपत में हुई बढ़ोतरी

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (12 जून): पिछले महीने यानि कि मई में पेट्रोल-डीजल की कीमत में बढ़ोतरी के बावजूद इसकी घरेलू मांग में रेकॉर्ड बढ़ोतरी हुई है। पेट्रोलियम प्लानिंग ऐंड ऐनलिसिस सेल के मुताबिक पिछले वर्षों की तुलना में इस मई में ईंधन की मांग में ज्यादा बढ़ोतरी हुई है। गौरतलब है कि पिछले महीने डीजल की बिक्री बढ़कर लगभग 75 लाख टन हो गई वहीं पेट्रोल की खपत 24 लाख टन हो गई। PPAC के आंकड़े के मुताबिक सबसे ज्यादा खपत अप्रैल 1998 में दर्ज की गई थी।जानकारी के लिए आपको बता दें कि जनवरी से मई के बीच 352 लाख टन डीजल का खपत करने के बाद भारत तेल की खपत करने वाला दुनिया का तीसरा देश बन गया है। यह पिछले साल के इसी समय से 6 फीसदी ज्यादा है। 2018 में देश में हर महीने औसतन 70 लाख टन डीजल की खपत हुई है। जबकि पिछले साल यह खपत 66 लाख टन थी।यानि कि मई और अप्रैल में डीजल और पेट्रोल की बिक्री 7.6 प्रतिशत बढ़ गई। यह पिछले साल के इसी महीने से 2 फीसदी ज्यादा है। इस साल हर महीने लगभगग 23 लाख टन पेट्रोल की खपत होती है। यह 2017 के आंकड़े से 7 फीसदी ज्यादा है। 2018 में डीजल की खपत का आंकड़ा पिछले साल का दोगुना भी हो सकता है। जानकारों का मानना है कि अच्छे मॉनसून की वजह से कृषि कार्यों और सरकार के बड़े ढांचागत खर्च के टारगेट की वजह से ईंधन की खपत बढ़ने के आसार हैं।