सुब्रमण्यम स्वामी का बड़ा बयान, कहा- 'यरुशलम पर यूएस के खिलाफ वोट देकर भारत ने की बड़ी गलती'

नई दिल्ली (23 दिसंबर): बीजेपी सांसद सुब्रमण्यन स्वामी एक बार फिर पार्टी लाइन से बाहर जाकर अपनी ही सरकार की मुखालफत की है। उन्होंने कहा कि भारत ने यरुशलम मामले में संयुक्त राष्ट्र में अमेरीका के खिलाफ वोट करके भारत ने बहुत बड़ी गलती की है। पिछले दिनों अमरीका ने आधिकारिक तौर पर यरुशलम को इजरायल की राजधानी घोषित किया था। संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) में अमरीका के इस फैसले के खिलाफ गुरुवार को वोटिंग कराई गई। भारत उन 128 देशों में शामिल रहा जिन्होंने अमरीका के खिलाफ वोट दिया। अमरीका के फैसले का विरोध करते हुए 128 देशों का कहना था कि यरुशलम के आखिरी दर्जे पर फैसला इजरायल और फिलिस्तीन के बीच आमने-सामने की बातचीत के जरिए होना चाहिए।  

स्वामी ने ट्वीट किया, ‘‘अमेरिकी दूतावास के लिये स्थान के तौर पर पश्चिम यरुशलम को चुनने के अमेरिकी फैसले पर अमेरिका एवं इस्राइल के पक्ष में मतदान नहीं कर भारत ने बड़ी भूल की है।’’ बता दें भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में एक प्रस्ताव के समर्थन में मतदान में 127 अन्य देशों का साथ दिया। 

यह प्रस्ताव अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के यरुशलम को इजरायल की राजधानी के तौर पर मान्यता देने के हाल के फैसले के विरुद्ध पेश किया गया था. नौ देशों ने प्रस्ताव के विरोध में मत दिया जबकि 35 देश मतदान से दूर रहे। ट्रंप ने अमेरिका के रुख का विरोध करने वाले देशों को चेतावनी दी थी जिसके एक दिन बाद भारत ने अमेरिका के विरुद्ध मत देने का फैसला किया।