'हिट मैन' में लगेंगे ये 5 विनाशक हथियार जो दुश्मन को कर देंगे खाक

Photo: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 नवंबर): हिंदुस्तान की सीमा पर एक तरफ चीन है तो दूसरी तरफ पाकिस्तान। दोनों ही सरहद पर हिंदुस्तान के खिलाफ कोई ना कोई साजिश रचते रहते हैं। चीन आंख दिखाता है, समंदर में दादागीरी दिखाता है। कुछ समय पहले तो चीन ने भारत की समुद्री सीमा में पनडुब्बी तक भेज दी थी। वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान आतंकियों की घुसपैठ कराता है, लेकिन अब दुश्मनों को करारा जवाब देने के लिए हिंदुस्तान आ रहा है हिट मैन। ये हिट मैन हिंदुस्तान के दुश्मनों की समंदर में ही समाधि बना देगा। जल थल और आकाश कहीं भी दुश्मन छिपा हो उसका सर्वनाश कर देगा।तलवार क्लास के युद्धपोत का इस्तेमाल रूस की नौसेना पहले से ही कर रही है। इन जंगी जहाज में ऐसे खौफनाक हथियार लगे हैं जो दुश्मन को पलक झपकते ही खत्म कर देते हैं, लेकिन अब ये जंगी जहाज जल्द भारतीय नौसेना में शामिल होने वाले हैं, जिससे नौसेना की ताकत दोगुना हो जाएगी।'हिट मैन' का हथियार नंबर 1:  ब्रह्मोस मिसाइल- रूसी सेना ने इस जंगी जहाज में कैलिबर मिसाइल फिट कर रखी है, जो 50 से लेकर 300 किलोमीटर तक मार कर सकती है। लेकिन गोवा में बनने वाले तलवार क्लास के दोनों जंगी जहाजों में ब्रह्मोस मिसाइल फिट कर सकता है।'हिट मैन' का हथियार नंबर 2:  बराक-8 मिसाइल- रूस के स्टील्थ डेस्ट्रॉयर का दूसरा सबसे घातक हथियार है। स्टील वन सैन यानी की जमीन से हवा में मार करने वाला सिस्टम जहाज के डैक के ठीक नीचे ऐसी चौबीस मिसाइलें लगी हैं, जिनकी रेंज करीब 45 किलोमीटर तक होती है। लेकिन भारतीय जहाजों में बराक 8 श्रेणी की मीडियम रेंज सरफेस टू एयर फिसाइल तैनात की जा सकती हैं। 70-80 किलोमीटर तक वार करने में सक्षम ये मिसाइल हवा में किसी भी टारगेट को निशाना बना सकती है।'हिट मैन' का हथियार नंबर 3: काश्तान CIWS- अगर इसके बावजूद कोई मिसाइल हवाई जाहज ब्रिगेट के करीब आ जाए तो आखिरी एयर डिफेंस सिस्टम है काश्तान (क्लोज इन वैपन सिस्टम) तेज रफ्तार से गोलियां बरसाने वाली गन और छोटी दूसरी की रॉकेट से लैस सिस्टम पूरी तरह से ऑटोमेटिक है व रडार की मदद से दुश्मनों को तलाश कर अपने आप उनका सर्वनाश कर देता है।'हिट मैन' का हथियार नंबर 4: नेवल गन- तलवार क्रलास के सामने एक गन लगाई जा सकती है जो दुश्मन के जहाज या फिर समंदर में मौजूद टारगेट पर निशाना लगा सकती है। ये गन 15 किलोमीटर तक की दूरी तक एक मिनट में साठ गोले दाग सकती है।'हिट मैन' का हथियार नंबर 5: एंटी सबमरीन रॉकेट- पानी के ऊपर मौजूद दुश्मनों और पानी के नीचे छिपकर हमला करने वालों का भी इलाज इस वार शिप में मौजूद होगा। शिप में एंटी सबमरीन रॉकेट फिट किया जा सकता है। ये 600 मीटर से लेकर चार किलोमीटर तक दुश्मन के जहाजों और पानी के नीचे एक किलोमीटर गहराई तक दुश्मन की पनडुब्बियों की कब्र खोद सकता है। इसके साथ ही इस तलवार क्लास युद्धपोत का सुनार भी बेहतर होगा। जिसका मतलब साफ है कि ये अपने आस-पास किसी सबमरीन की आहट को ज्यादा तेजी से महसूस कर सकता है।समंदर में दुश्मन का वार बचने का मौका नहीं देता, लेकिन भारत समंदर में दुश्मन की किसी भी नापाक चाल का जवाब देने के लिए पूरी तरह से तैयार होने वाला है। क्योंकी भारत के पास खौफनाक हथियारों से लैस जो जंगी जहाज आएंगे वो दुश्मन के लिए साक्षात यमराज जैसे साबित होंगे। भारत और रूस के बीच दोस्ती की ये डील समंदर में ही नहीं हुई है बल्कि अमेरिका की प्रतिबंध की चेतावनी को नजरअंदाज करते हुए भारत रूस से साथ S-400 सिस्टम का भी सौदा कर चुका है।इसके अलावा दोनों देश आजकल अपनी सेना को मजबूत बनाने और अंतर्राष्ट्रीय आंतकवाद से निपटने के लिए यूपी के झांसी में संयुक्त सैन्य अभ्यास भी कर रहे हैं। इस अभ्यास से दोनों देशों के बीच दोस्ती और गहरी होने तथा सेना के बीच रणनीतिक कौशल बढ़ने की उम्मीद जताई जा रही है। साथ ही दावा किया जा रहा है कि इससे अन्तर्राष्ट्रीय आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई को और प्रभावशाली तरीके से लड़ने में मदद मिलेगी। इस सैन्य अभ्यास के दौरान दोनों देशों ने आसमान दोस्ती के हेलिकॉप्टर उड़ाए गए तो जमीन पर दोस्ती परेड हुई।