Blog single photo

न्यू यॉर्क में नट क्रेकर और शिकागो में सोन पपड़ी, अब USA में भी हिंदुस्तानी जायका

ह्यूस्टन से न्यूयॉर्क और शिकागो से सेनजॉस और लास वेगास लेकर वाशिंगटन पोस्ट तक अब हल्दीराम की भुजिया, गुलाब जामुन, सोन पापड़ीका स्वाद चखने को मिलेगा। इसके लिए हल्दीराम और अमेजन के बीच डील हुई है। अब हल्दीराम के प्रोडक्ट्स को अब लोग अमेरिका में अमेजन पर खरीद सकेंगे।

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (7 नवंबर): ह्यूस्टन से न्यूयॉर्क और शिकागो से सेनजॉस और लास वेगास लेकर वाशिंगटन पोस्ट तक अब हल्दीराम की भुजिया, गुलाब जामुन, सोन पापड़ीका स्वाद चखने को मिलेगा। इसके लिए हल्दीराम और अमेजन के बीच डील हुई है। अब हल्दीराम के प्रोडक्ट्स को अब लोग अमेरिका में अमेजन पर खरीद सकेंगे। हल्दीराम स्नैक्स के मैनेजिंग डायरेक्टर पंकज अग्रवाल ने बयान में कहा कि कंपनी अपनी मौजूदगी को पूरी दुनिया के ग्राहकों तक फैलाना चाहती है। जो भारतीय दुनिया में कहीं भी रहते हैं, उन्हें हल्दीराम की भुजिया और नट क्रेकर घर की याद दिलाएंगे।

अमेजन के साथ करार के बाद हल्दीराम की सेल्स अमेरिका में बढ़ने की उम्मीद है। कंपनी को इससे अमेरिकी बाजार में अपने विस्तार और ग्रोथ को मदद मिलने की उम्मीद है। जहां कंपनी को अमेरिका में लाखों नए ग्राहक जुड़ने की उम्मीद है, वहीं अभी हल्दीराम का 40 फीसदी निर्यात अमेरिका में ही जाता है।

अमेजन इंडिया के ग्लोबल ट्रेड हेड अभिजीत कामरा के मुताबिक, ग्लोबल सेलिंग प्रोग्राम के तहत अमेजन हल्दीराम के भारत में बने प्रोडक्ट्स को दुनिया भर के ग्राहकों तक पहुंचाएगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अमेजन के ग्लोबल सेलिंग प्रोग्राम से ई कॉमर्स के निर्यात की दुनिया भर के ग्राहकों तक पहुंच बनती है।

अमेजन इंडिया ने 2015 में ग्लोबल सेलिंग प्रोग्राम लॉन्च किया था। यह प्रोग्राम अभी 1 बिलियन डॉलर निर्यात पर काम कर रहा है। कंपनी का 3 साल के भीतर निर्यात को बढ़ाकर 5 बिलियन डॉलर तक पहुंचाने का लक्ष्य है। लगभग 50,000 छोटे भारतीय ब्रांड, ट्रेडर्स और निर्माताओं को अमेजन के ग्लोबल ई कॉमर्स निर्यात चैनल से फायदा हुआ है। इससे उन्होंने 150 मिलियन प्रोडक्ट्स बेचे हैं। ये अमेजन के 12 अंतरराष्ट्रीय मार्केटप्लेस में बेचे गए हैं।

इसके अलावा अब भारतीय ग्राहक भी अमेरिका से प्रोडक्ट्स खरीद सकते हैं। इन्हें अमेजन के ग्लोबल स्टोर से खरीदा जा सकता है जो अमेरिका से कुछ चुनिंदा आइट्म्स को बेचता है। अमेजन इन प्रोडक्ट्स को भारतीय रुपये में ही बेचता है। हल्दीराम की शुरुआत राजस्थान के बिकानेर में साल 1937 में एक छोटी इकाई के तौर पर हुई थी। अब हल्दीराम अपने प्रोडक्ट्स को 80 से ज्यादा देशों में बेच रही है।

Images Courtesy:Google

Tags :

NEXT STORY
Top