गैंगरेप पीड़िता से 3 साल बाद उन्हीं आरोपियों ने किया गैंगरेप

नई दिल्ली (18 जुलाई): हरियाणा के रोहतक में सामूहिक बलात्कार के पांच आरोपियों ने तीन साल बाद उसी दलित युवती को कथित रूप से अगवा कर उसके साथ फिर से सामूहिक बलात्कार किया। वारदात के बाद आरोपी पीड़ित लड़की को मरने के लिए झाड़ियों में फेंककर फरार हो गए। आरोप है कि 3 साल पहले भी इन्हीं 5 लोगों ने उसके साथ गैंगरेप किया था। लड़की ने तब केस किया। आरोपी केस वापस लेने की धमकी दे रहे थे और केस वापस नहीं लेने पर दोबारा दरिंदगी की। इस घटना के 4 दिन बाद भी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

13 जुलाई को महिला कॉलेज में पढ़ने वाली इस छात्रा को पांच युवकों ने कार में अगवा किया। फिर उसे नशीला पदार्थ खिलाकर उसके साथ गैंगरेप किया। बाद में मरने के लिए सुनसान इलाके में फेंककर फरार हो गए, लेकिन ये जानकर आप हैरान रह जाएंगे कि दरिंदगी की शुरुआत यहां से नहीं हुई। 

लड़की के परिवारवालों के मुताबिक ये हैवान इससे पहले 2013 में भी इस लड़की के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दे चुके हैं। उस वक्त पीड़िता का परिवार भिवानी में रहा करता था। वारदात के बाद परिवार रोहतक में आकर रहने लगा लेकिन आरोपी  50 लाख में समझौता करने का दबाव बनाने लगे। जब परिवार ने इनसे इनकार किया, तो एक बार फिर दरिदों ने लड़की के साथ रेप कर दिया।

पांच आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं। पुलिस का दावा है कि उन्हें जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इस घटना ने हरियाणा की कानून व्यवस्था को कठघरे में खड़ा कर दिया है। पांच आरोपी दो बार एक लड़की के साथ गैंगरेप जैसी वारदात को अंजाम देते हैं। लेकिन पुलिस सिर्फ उनका कुछ नहीं कर पाती।