'इकॉनमी एसी क्लास' कोच वाली ट्रेन लाने की तैयारी में रेलवे


नई दिल्ली(3 जुलाई): भारतीय रेलवे जल्द ही पैसेंजर्स को सस्ते में एसी का सफर कराने की तैयारी में है। नए एसी कोचों का किराया अभी के थर्ड एसी कोच के किराए से कम होगा।


- प्रस्तावित फुल एसी ट्रेन में फर्स्ट एसी, सेकंड एसी और थर्ड एसी के अलावा 'इकॉनमी एसी क्लास' के 3 टियर कोच होंगे।


- बता दें कि फिलहाल मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में स्लीपर के अलावा सिर्फ तीन कैटिगरी (फर्स्ट एसी, सेकंड एसी और थर्ड एसी) के एसी कोच ही होते हैं। वहीं, राजधानी, शताब्दी और हमसफर जैसी ट्रेनें फुल एसी होती हैं।


- 'इकॉनमी एसी क्लास' में पैसेंजर्स को कंबल की जरूरत नहीं पड़ेगी क्योंकि उसका टेंपरेचर 24-25 डिग्री सेल्सियस होगा। प्रस्तावित पूरी तरह से वातानूकुलित ट्रेनों में एक नया फीचर ऑटोमेटिक दरवाजे भी होंगे।


- रेलवे का प्लान चुनिंदा रूटों पर ज्यादा से ज्यादा लोगों के सफर को आरामदायक बनाने का है जिसके मद्देनजर इस आइडिया को अमली जामा पहनाने पर जोर दिया जा रहा है। रेलवे ने पुरानी सुविधाओं में सुधार लाने के मकसद से यह कदम उठाया है जिसके लिए रेलवे में एक विशेष टीम भी बनाई गई है।


- रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, 'नए इकॉनमी एसी क्लास में दूसरी एसी क्लास ट्रेनों की तरह ठंडक नहीं रहेगी और तापमान 24-25 के करीब फिक्स रहेगा। हमारी कोशिश यह है कि यात्रियों का सफर आरामदायक बन सके और उन्हें बाहर की गर्मी से बचाया जा सके।' प्रस्तावित नई ट्रेन में इकॉनमी एसी क्लास के कोच ज्यादा होंगे जिससे अधिक यात्रियों को इस सुविधा का लाभ दिया जा सकेगा। अधिकारी ने बताया कि नए इकॉनमी क्लास एसी कोच बनाने से पहले इस पर अभी और काम किया जाना बाकी है उसके बाद ही मैन्युफैक्चरिंग शुरू होगी। बता दें कि मोदी सरकार में ही शुरू हुई हमसफर ट्रेन काफी पसंद की जा रही है। हमसफर में अपग्रेडेड सुविधाओं के साथ सारे कोच थर्ड एसी के हैं।