यमन से किडनैप किए गए भारतीय पादरी को सूली पर लटका सकता है ISIS

नई दिल्ली(25 मार्च): यमन में आतंकी संगठन आईएस द्वारा किडनैप किए गए भारतीय कैथोलिक पादरी को आज सूली पर लटकाया जा सकता है। फादर टॉम उजहूनालिल को 4 मार्च को यमन के एक ओल्ड एज होम से किडनैप किया गया था। 

आईएस ने यमन के एक रिफ्यूजी कैंप पर हमला किया। इस हमले में आईएस ने 15 लोगों की हत्या कर दी थी, इसके बाद 56 साल के टॉम उजहूनालिल का अपहरण कर लिया था। कई अंतरराष्ट्रीय सामाजिक संस्थाओं ने टॉम की जान बचने के लिए सोशल मीडिया पर अपील भी की है। घटना के बारे में उसी रिफ्यूजी कैंप की एक नन ने जानकारी दी थी। उसने बताया था कि हमलावर पांच इथोपियाई थे। नन ने बताया था कि टॉम को हमलावर एक कार में डालकर ले गए थे।

दक्षिण अफ्रीकी देश के नन्स ने पादरी टॉम को लेकर यह बयां जारी किया कि उन्हें आईएस के कैद में बुरी तरह से प्रताडि़त किया जा रहा है और आज के दिन उनकी हत्या करने की बात कही जा रही है। यमन के अधिकारीयों ने इस बात की पुष्टि की है कि पादरी टॉम मदर टेरेसा मिशनरीज के तहत यहां के रिफ्यूजी कैंप में लोगो की सेवा कर रहे थे, जिनका अपहरण 4 मार्च को आतंकियों ने हमला कर किया था।