आइंस्टीन और स्टीवन हॉकिंग्स जैसा है भारतीय मूल की इस लड़की का IQ

नई दिल्ली (10 जनवरी): ब्रिटेन में 11 वर्षीय भारतीय मूल की एक लड़की ने मेनसा आईक्यू टेस्ट में सर्वाधिक 162 अंक हासिल कर देश की सबसे तेज युवा मस्तिष्क वाले विद्याथियों में से जगह बनाई है।

अंग्रेजी अखबार 'द ट्रिब्यून' की रिपोर्ट के मुताबिक, मुंबई में पैदा हुई काश्मिया वाही ने 162 में 162 अंक हासिल किए और इस तरह से वह महान वैज्ञानिकों अलबर्ट आइंस्टीन और स्टीवन हॉकिंग्स की कतार में शामिल हैं। काश्मिया ने कहा, ‘स्टीफन हॉकिंग और अलबर्ट आइंस्टीन जैसे लोगों से तुलना किए जाने से अभिभूत हूं। यह तुलना अकल्पनीय है और मेरा मानना है कि ऐसे दिग्गजों की कतार में शामिल होने के लिए बहुत सारी उपलब्धियां हासिल करनी होगी।’

हॉकिंग्स और आईंस्टीन दोनों का आक्यू 160 था। लंदन में ड्यूश बैंक में आईटी प्रबंधन परामर्शदाता विकास और पूजा वाही की बेटी काश्मिया ने अपने माता-पिता के समक्ष खुद को साबित करने के लिए इस परीक्षा में हिस्सा लिया। ‘कैटल-3 बी मेनसा’ अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति रखने वाली आकलन प्रक्रिया है।