भारतीय नौसेना ने चीनी जहाज को समुद्री लुटेरों से बचाया, ड्रैगन ने कहा शुक्रिया


बीजिंग (9 अप्रैल): भले ही चीन और पाकिस्तान जैसे पड़ोसी भारत के खिलाफ एक के बाद एक साजिश क्यों ने रचता हो। लेकिन भारत हर वक्त अपने पड़ोसियों की भलाई ही चाहता है। इसकी एक बानगी एकबार फिर उस वक्त देखने को मिली जब समुद्री लुटेरों ने बीच समंदर में चीनी जहाज को लूटने की कोशिश की। भारतीय नौसान ने चीनी नौसेना के साथ मिलकर उसके एक व्यापारिक जहाज को लुटेरों की चंगुल से छुड़ाया।


 दरअसल 8 अप्रैल की देर रात अदन की खाड़ी में एक जहाज के हाईजैक होने की खबर आई, जिसके बाद दोनों देशों की नौसेना ने मिलकर ऑपरेशन को अंजाम दिया। यह पोत मलेशिया में केलांग से यमन के तटीय शहर अदन की तरफ जा रहा था, जब इसे लुटेरों से घेर लिया। इस जहाज के मुश्किल में फंसने की खबर मिलते ही भारतीय नौसेना ने अपने जहाज-INS मुंबई और INS तर्कश को तुरंत मदद के लिए भेजा। उन्होंने उस जहाज को चारों ओर से घेर लिया और उसके कप्तान से संपर्क साधा। इस बीच चीनी नौसेना भी हरकत में आया। इस दौरान समुद्री डाकू खुद को घिरा हुआ देख रात के अंधेरे का फायदा उठाते हुए भागने लगे। भारतीय नौसेना ने हेलीकॉप्टर ने एयर कवर दिया।


इस अभियान के पूरा होने के बाद चीनी नौसेना ने इस सफल अभियान में भूमिका निभाने के लिए भारतीय नौसेना का शुक्रिया अदा किया। वहीं भारतीय नौसेना ने भी चीनी नौसेना की सराहना की।