इंडियन नेवी से रिटायर हुआ यह फाइटर जेट

नई दिल्ली (11 मई): इंडियन नेवी ने सी-हैरियर फाइटर प्लेन को रिटायर कर दिया है। गोवा के आईएनएस हंसा बेस में हुए एक प्रोग्राम में नेवी ने इसे विदाई दी। इस मौके पर एडमिरल आरके धोवन और रिटायर्ड एडमिरल अरुण प्रकाश मौजूद थे।

सी हैरियर फाइटर प्लेन इंडियन नेवल एयर स्‍क्‍वाड्रन 300 का पार्ट थे। इसे व्‍हाइट टाइगर्स भी कहा जाता था। नेवी ऑफिसर्स के मुताबिक इसकी जगह अब रूस में बने मिग-29K को नेवी के एयर स्क्वाड्रन में शामिल किया जाएगा। ब्रिटेन में तैयार सी-हैरियर को 1983 में नेवी में शामिल किया गया था। इसे ब्रिटिश कंपनी एयरोस्‍पेस ने बनाया था। प्लेन में रॉल्स रॉयस पेगासुस टर्बोफैन इंजन लगा था। नेवी को सी-हैरियर क्लास के फाइटर प्लेन की देख-रेख में काफी परेशानियां आ रहीं थी। ब्रिटिश कंपनी रॉल्स रॉयस ने इसके पार्ट्स बनाने बंद कर दिए थे।

इंडिया ने ब्रिटेन से 30 सी हैरियर प्लेन खरीदे थे। इनमें से 15 प्लेन क्रेश हो चुके हैं। सी-हैरियर से हुए हादसों में 8 पायलटों की भी जान जा चुकी है। नेवी के पास मौजूदा वक्त में 6 सर्विंग सी हैरियर और 5 एयरफ्रेम वारशिप पर रखे गए थे। सी हैरियर स्‍क्‍वाड्रन को 1999 में ऑपरेशन विजय के दौरान तैनात किया गया था। 2001 में ऑपरेशन पराक्रम के बाद इन्‍हें आईएनएस विराट पर रखा गया। सी हैरियर ब्रिटिश रॉयल नेवी में भी शामिल रहा है। रॉयल नेवी ने 30 साल की सर्विस के बाद 10 साल पहले 2006 में इन्‍हें रिटायर कर दिया था।