कभी भी गिरफ्तार हो सकता है ये भारतीय क्रिकेटर

नई दिल्ली(25 नवंबर): इंडियन नेवी ने हरियाणा के क्रिकेटर दीपक पुनिया के खिलाफ अरेस्ट वारंट जारी किया है। उनपर नेवी से बिना नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट (NOC) लिए हरियाणा रणजी टीम के लिए खेलने का आरोप है।

-  24 साल के पुनिया ने 2014 में नेवी में नौकरी शुरू की थी और वर्तमान में INS अंगरे पर तैनात हैं।

- INS अंगरे के कमांडिंग ऑफिसर कमोडोर एमएमएस शेरगिल ने हरियाणा और मुंबई पुलिस को पुनिया की गिरफ्तारी के लिए अधिकृत किया है। 

- वारंट में कहा गया है कि, ‘दीपक पुनिया का ऐसा कृत्य नेवी एक्ट 1957 के तहत अपराध है और आपको उस दीपक पुनिया AG PO (US), 237169-Y को इंडियन नेवी के किसी शिप पर पूछताछ के लिए और आगे कानून के मुताबिक कार्रवाई करने हेतु लाने के लिए कहा जाता है।’

- पुनिया पिछले महीने रणजी ट्राफी में हरियाणा टीम के लिए दो मैच खेल चुके हैं। द सर्विस स्पोर्ट्स कंट्रोल बोर्ड सेक्रेटरी सत्यव्रत श्योरन ने बीसीसीआई को एक पत्र भेजकर कहा कि दीपक पुनिया की एनओसी को खत्म किया जाए और उन्हें वापस नेवी में भेजा जाए। हालांकि बीसीसीआई ने कहा था कि वे पुनिया के दस्तावेज से संतुष्ट हैं।

- एक अंग्रेजी अखबार से बात करते हुए पुनिया ने कहा कि उन्होंने अपने सीनियर अधिकारियों को रणजी ट्राफी के इस सीजन में हरियाणा की ओर से खेलने की जानकारी दी थी। लेकिन अधिकारियों ने उन्हें कहा कि वे ड्यूटी पर रहते हुए एक दूसरे राज्य के लिए नहीं खेल सकते हैं, अगर उन्हें खेलना है तो छुट्टी लेनी चाहिए तब वे खेल पाएंगे। इसके बाद पुनिया ने 30 दिन की छुट्टी के लिए आवेदन दिया, और बाद में छुट्टी बढ़ाने की भी मांग की। लेकिन नेवी ने उनकी छुट्टी नहीं बढ़ाई और ड्यूटी पर ना लौटने पर उनके खिलाफ अरेस्ट वारंट जारी कर दिया गया।