पाक ने वीडियो जारी कर नेवी अफसर को बताया जासूस, भारत ने किया खारिज

नई दिल्ली(30 मार्च): पाकिस्तान की आर्मी ने पूर्व नौसेना अधिकारी को भारत का जासूस बताते हुए उसके कथित कबूलनामे का वीडियो जारी किया है। इसमें उसने माना है कि वह बलूचिस्तान में टेररिस्ट एक्टिविटी में शामिल था। भारत ने इस वीडियो को खारिज कर सवाल उठाया है कि कहीं ईरान से उसे किडनैप तो नहीं किया गया था?

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, भारत सरकार इन आरोपों को सिरे से खारिज करती है कि यह व्यक्ति हमारी तरफ से पाकिस्तान में विध्वंसकारी गतिविधियों में शामिल था। हमने ईरान में बिजनेस करने वाले पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी की पाकिस्तानी प्रशासन द्वारा जारी वीडियो देखा। यह अधिकारी रहस्यमय परिस्थतियों के तहत पाकिस्तान की हिरासत में है। इस वीडियो में अधिकारी ने जो बयान दिए हैं उनका कोई आधार नहीं है।

वीडियो में दिखाया गया है कि मुंबई निवासी यादव वर्ष 1987 में भारत की राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में शामिल हुआ और बाद में वर्ष 1999 में भारतीय नौसेना में शामिल हुआ। यादव ने वीडियो में कहा, मैं भारतीय नौसेना का अधिकारी हूं और 14 वर्ष की सेवा पूरी करने के बाद 2022 में सेवानिवृत हो जाऊंगा। वर्ष 2002 तक मैं खुफिया अभियानों में शामिल रहा। वर्ष 2003 में मैंने ईरान के चाबाहार में छोटा सा उद्योग शुरू किया। अपनी पहचान गुप्त रखने के कारण मैं 2003 और 2004 में कराची आया और भारत में रॉ के लिए कुछ काम किया। 2013 में मुझे रॉ के लिए चुना गया।

वीडियो में किए गए इस कथित कबूलनामे पर प्रतिक्रिया देते हुए विदेश मंत्रालय ने कहा, व्यक्ति का यह दावा कि बिना किसी दबाव के उसने बयान दिया है न केवल इसकी विश्वसनीयता को चुनौती देगा बल्कि यह स्पष्ट संकेत है कि उसे प्रताडि़त किया जा रहा है। मंत्रालय ने कहा कि उसके आग्रह के बावजूद पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय नियमों के अनुसार विदेश में पकड़े गए भारतीय नागरिक से दूतावास को संपर्क नहीं करने दिया।

उन्होंने कहा, हमें इन परिस्थितियों में उसकी सलामती की चिंता है। हमारी छानबीन में पता चला है कि ईरान से कानूनी रूप से व्यवसाय करते समय उसे लगातार प्रताडि़त किया जा रहा था। हम इसकी आगे जांच कर रहे हैं। ईरान से उसके अपहरण की आशंका समेत पाकिस्तान में उसकी मौजूदगी सवाल खड़े कर रही है। यह तभी स्पष्ट होगा जब हमारे दूतावास को उससे संपर्क करने दिया जाए और हम पाकिस्तान सरकार से हमारे अनुरोध पर जल्द जवाब देने की अपील करते हैं।