भारत सरकार ने ब्रिटेन से विजय माल्या को वापस मांगा

नई दिल्ली (29 अप्रैल): सरकार ने आधिकारिक तौर पर ब्रिटेन की सरकार से विजय माल्या को वापस भेजने का आग्रह किया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने बताया कि ब्रिटेन उच्चायोग को विजय माल्या के प्रत्यर्पण के लिए लिखा गया है। हाल में ही विदेश मंत्रालय ने माल्या को जारी किया गया डिप्लोमैटिक पासपोर्ट भी वापस ले लिया था। नौ हडार चार सौ करोड़ के कर्ज़दार शराब कारोबारी विजय माल्या 2 मार्च को भारत से लंदन भाग गये थे। माल्या जांच के लिये भारत वापस आने के आदेशों की अवहेलना भी कर चुके हैं।

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने विजय माल्या, उनके तीन बच्चों और पत्नी के नाम पर मौजूद संपत्तियों की जानकारी बैंकों के साथ साझा की। सुप्रीम कोर्ट ने एसबीआई के नेतृत्व में बने बैंकों के संघ को इसकी जानकारी देते हुए कहा कि दो महीने के अंदर वे जानकारी दें कि उन्होंने क्या कार्रवाई की है। माल्या के नाम से गैर जमानती वॉरंट भी जारी किया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने 7 अप्रैल को निर्देश दिया था कि माल्या कोर्ट में एक निश्चित रकम जमा करायें, अपने लौटने की संभावित तारीख बताएं और देश-विदेश की अपनी संपत्ति का ब्यौरा दें। माल्या की तरफ से इस निर्देश का सम्मान नहीं करने पर सुप्रीम कोर्ट ने फटकार भी लगाई।