प्रति कर्मचारी आय के मामले में सबसे आगे है ये कंपनी

नई दिल्ली(6 सितंबर): क्या आपको पता है किस भारतीय कंपनी की प्रति कर्मचारी आय सबसे ज्यादा है? आपको लगता होगा टीसीएस और रिलायंस। लेकिन जनाब ऐसा बिलकुल नहीं है। फॉरन ब्रॉकरेज कंपनी सीएलएसए भारत की करीब 76 टॉप कंपनियों के बारे में बेहद रोचक जानकारी लेकर आई है।

 यहां जानिए उन कंपनियों की लिस्ट उनके बारे में रोचक जानकारी: 

- सबसे ज्यादा कर्मचारी टीसीएस और कोल इंडिया देश की अकेली ऐसी लिस्टेड कंपनियां हैं, जिनके पास 3 लाख से ज्यादा स्थाई कर्मचारी हैं।

- सबसे बड़े नियोक्ता

फाइनैंशल और टेक्नॉलजी कंपनियां मिलकर देश की 40 प्रतिशत से ज्यादा वर्कफोर्स को काम देती हैं।

- सबसे बड़े सीईओ (उम्र में) आईपीसीए लैब्स के सीएमडी प्रेमचंद गोढा भारत की किसी भी लिस्टेड कंपनी के सबसे ज्यादा उम्र के एग्जिक्यूटिव हेड हैं। इनकी उम्र 70 साल है।

-  महिला कर्मचारी महिलाकर्मचारियों के मामले में लिस्टेड कंपनियों में टीसीएस में 34 प्रतिशत महिला कर्मचारी हैं। वहीं अनुपात के मामले में इन्फोसिस सबसे आगे है, जहां 36 प्रतिशत महिला कर्मचारी हैं।

- महिलाओं की भागीदारी 2016 के मुकाबले 2017 में महिलाओं की भागीदारी 1.4 प्रतिशत बढ़ी है। 2016 में महिलाओं की भागीदारी 21.6 प्रतिशत थी। जबकि 2017 में यह 23 प्रतिशत हो गई।

- सबसे लंबी एन्युअल रिपोर्ट देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलांयस की एन्युअल रिपोर्ट 460 पन्नों की है।

- प्रति कर्मचारी सबसे ज्यादा कमाई प्रति कर्मचारी आय के मामले में एचडीएफसी सबसे आगे है। एचडीएफसी की प्रति कर्मचारी आय 3 करोड़ 20 लाख रुपये है, जबकि दूसरे नंबर पर BSE500 है, जिसकी प्रति कर्मचारी आय 27 लाख रुपये है।

- सबसे छोटी एन्युअल रिपोर्ट कोल इंडिया की सबसे छोटी एन्युअल रिपोर्ट रही, जो 140 पेज तक ही सीमित रही।

-  'Demonetisation' शब्द का इस्तेमाल 'Demonetisation' शब्द का इस्तेमाल 61 कंपनियों की एन्युअल रिपोर्ट में 469 बार हुआ। इसमें एसबीआई की रिपोर्ट में सबसे ज्यादा 26 बार इस शब्द का इस्तेमाल हुआ।

-  'GST' का इस्तेमाल 56 कंपनियों की एन्युअल रिपोर्ट में 'GST' शब्द का इस्तेमाल 351 बार हुआ है। इनमें रिलायंस ने सबसे ज्यादा 26 बार इस शब्द का इस्तेमाल किया है।

-  सबसे कम सीईओ सैलरी सबसे कम सैलरी वाले सीईओ/सीएमडी में एसबीआई, बैंक ऑफ बड़ौदा और कॉर्पोरेशन बैंक हैं। जिनकी सैलरी 30 लाख रुपये है।