कुंबले के कोच बनने पर इस दिग्गज पेसर ने दिया बड़ा बयान

नई दिल्ली(24 जून): भारतीय क्रिकेट फैंस ने अनिल कुंबले के भारत के मुख्य कोच पद पर नियुक्ति का स्वागत किया और वेंकटेश प्रसाद ने तो यहां तक कहा कि यदि उन्हें पता रहता कि उनका यह साथी कोच पद की दौड़ में शामिल है तो वह आवेदन नहीं करते।

प्रसाद ने कुंबले के एक साल के लिए कोच नियुक्त किए जाने के तुरंत बाद कहा कि ईमानदारी से कहूं, यदि मुझे पता होता कि अनिल भी आवेदन कर रहा है तो मैं आवेदन ही नहीं करता। मैं निराश नहीं हूं। ऐसा होता है। यह पूरी तरह से दो लोगों अनिल और रवि शास्त्री के बीच का मुकाबला था।

प्रसाद न सिर्फ कुंबले के साथ खेले बल्कि वह कर्नाटक राज्य क्रिकेट संघ में उनके साथ प्रशासनिक भूमिका में भी रहे। पूर्व भारतीय कप्तान गुंडप्पा विश्वनाथ ने कुंबले को क्रिकेट का बहुत अच्छा छात्र करार दिया और कहा कि इस लेग स्पिनर को एक साल से अधिक समय का कार्यकाल दिया जाना चाहिए था।विश्वनाथ ने कहा कि मेरे हिसाब से अनिल बहुत अच्छी पसंद है। वह खेल का बहुत अच्छा छात्र है और इससे उसे नई भूमिका में मदद मिलेगी। जब अनिल को शुरू से देखा है। वह भारत का महान खिलाड़ी है और उसमें अच्छे कोच बनने के सारे गुण मौजूद हैं। वह आईपीएल में मेंटर की भूमिका में इसे साबित कर चुका है।

हालांकि यह थोड़ा अजीब है कि उसे केवल एक साल के लिए नियुक्त किया गया है। मेरा मानना है कि अनिल के लिए लंबा कार्यकाल बेहतर होता ताकि वह टीम में अपना विजन डाल पाते।एक अन्य पूर्व स्पिनर बिशन सिंह बेदी का भी मानना है कि कुंबले को अधिक समय दिया जाना चाहिए। उन्होंने ट्वीट किया कि कुंबले बधाई बेटे। आप इस सम्मान के हकदार थे। मैं भारतीय क्रिकेट के लिए खुश हूं। बीसीसीआई ने अच्छा काम किया। मेरी इच्छा थी कि कुंबले को दो तीन साल का समय दिया जाता।

कुंबले के लंबे समय तक साथी रहे वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट किया कि भारतीय टीम के लिए जंबो खबर। बधाई अनिल कुंबले। टीम के पास ऐसा कोच है जो जबड़ा टूटने के बावजूद खेला और यह ड्रेसिंग रूम में खिलाड़ियों के लिए प्रेरणा होगी। कुंबले के लंबे समय तक गेंदबाजी जोड़ीदार रहे हरभजन सिंह ने ट्वीट किया कि भारतीय क्रिकेट के लिए बहुत अच्छी खबर। भारत का मुख्य कोच बनने के लिए बधाई अनिल भाई। आगे बढ़ो। शुभकामनाएं। भारतीय सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने लिखा कि भारतीय कोच बनने पर अनिल कुंबले को बधाई। उनके साथ लंबा समय बिताने को लेकर उत्सुक हूं