सऊदी अरब पर हमले की अपील करने वाला उलेमा सलमान नदवी ओमान से निष्कासित

नई दिल्ली (28 सितंबर): भारत के एक चर्चित और जिहाद समर्थक कट्टरपंथी मुस्लिम धर्मगुरु सलमान नदवी पर ओमान ने बड़ी कार्रवाई करते हुए उनको निष्कासित कर दिया है। नदवी पर यह कार्रवाई उनके एक लेक्चर के लिए की गई है। मसकट के राजनयिक सूत्रों ने नदवी के निष्कासन की पुष्टि की है। उनके मुताबिक, नदवी ने पिछले हफ्ते स्थानीय शरीया साइंस कॉलेज में एक लेक्चर दिया था जिसमें कतर पर प्रतिबंध लगाने के लिए सऊदी और सहयोगी खाड़ी देशों पर हमले की अपील की थी। सऊदी अरब, मिस्र, यूएई और बहरीन ने कतर से इस साल जून में अपने सभी राजनयिक और व्यापारिक संबंध खत्म कर लिए थे।

ओमानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नदवी का लेक्चर देश के सिद्धांत, नीतियों और दृष्टिकोण के खिलाफ था, इसलिए उनको निष्कासित करने का फैसला लिया गया। रियाद ने नदवी के निष्कासन के लिए ओमान को औपचारिक रूप से बधाई दी है। ओमान से निष्कासित किए जाने के बाद नदवी को मिस्र के 91 वर्षीय इस्लामी धर्मगुरु युसूफ अल करजावी के साथ कतर की राजधानी में देखा गया था। करजावी को आतंकवाद को कथित रूप से समर्थन देने के लिए अरब देशों ने प्रतिबंध सूची में डाल रखा है। करजावी ने आत्मघाती हमले को 'जिहाद का सर्वोच्च' रूप करार दिया था।