अमेरिका: इनसाइडर ट्रेडिंग के आरोप में भारतीय अरेस्ट


नई दिल्ली(26 अप्रैल): अमेरिका में एक भारतीय को गिरफ्तार किया गया है। उस पर इनसाइडर ट्रेडिंग और एक प्राइवेट इक्विटी फर्म द्वारा एक टेक्नोलॉजी कंपनी के अधिग्रहण से जुड़ी गोपनीय सूचनाएं लीक कर हजारों डॉलर कमाने का आरोप है।


- आरोप साबित होने पर भारतीय को 20 साल की सजा और 5 लाख डॉलर (करीब 32 करोड़ रुपए) का जुर्माना देना पड़ सकता है।


- अवनीश कृष्णमूर्ति (41) नाम का ये आरोपी मैनहट्टन के एक इन्वेस्टमेंट बैंक में काम करता था। मैनहट्टन के एक्टिंग अटॉर्नी जून किम ने कहा कि कृष्णमूर्ति ने भेदिया कारोबार योजना के तहत करीब 48 हजार यूएस डालर का अवैध मुनाफा कमाया।


- "इसको लेकर सिक्युरिटी एंड एक्सचेंज कमीशन ने कम्प्लेंट की थी। जिसमें कहा गया था कि गोल्डन गेट कैपिटल कंपनी ने एडवरटाइजिंग टेक्नोलॉजी न्यूस्टार इंक को खरीदा। इसके बाद न्यूस्टार के शेयरों का बिजनेस शुरू हुआ। इसके लिए अवनीश ने 2 अकाउंट्स बनाए। उस पर आरोप है कि उसने अपने इम्प्लॉयर से सारी बातें छिपाईं। गोल्डन गेट कैपिटल ने अवनीश की कंपनी से ट्रांजैक्शन को लेकर कॉन्ट्रैक्ट किया था।"


- अवनीश न्यूजर्सी का रहने वाला है और 2015 से मैनहट्टन के एक इन्वेस्टमेंट बैंक में वाइस प्रेसिडेंट और रिस्क मैनेजमेंट स्पेशलिस्ट के तौर पर काम कर था।