भारतीय वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष में ‘सरस्वती’ को खोज निकाला

नई दिल्ली (14 जुलाई): भारतीय अंतरिक्ष वैज्ञानिकों को बड़ी सफलता मिली है। वैज्ञानिकों एक दल ने आकाशगंगाओं का एक बहुत बड़ा समूह खोजा है जिसका आकार अरबों सूर्यों के बराबर है। इसका नाम सरस्वती रखा गया है। पुणे स्थित ‘इंटर यूनीवर्सिटी सेंटर फॉर एस्ट्रोनामी एंड एस्ट्रोफिजिक्स’ ने यह जानकारी दी।

संगठन ने कहा कि यह सबसे बड़े ज्ञात ढांचों में से एक है जो पृथ्वी से 400 लाख प्रकाश वर्ष दूर है और करीब 10 अरब वर्ष से अधिक पुराना है। इस संस्थान के वैज्ञानिक पिछले वर्ष गुरुत्वाकर्षीय तरंगों की बड़ी खोज में भी शामिल थे।


आकाशगंगाओं के इस समूह की खोज पुणे के इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च के पीएचडी छात्र शिशिर संख्यायन, आईयूसीएसएस के रिसर्च फेलो प्रतीक दभाड़े, केरल में न्यूमेन कॉलेज के जो जैकब और जमशेदपुर में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के प्रकाश सरकार ने की है।


बता दें कि एक क्लस्टर में लगभग 1000 से 10,000 गैलेक्सी होती हैं। एक सुपरक्लस्टर में 40 से 43 क्लस्टर शामिल होते हैं। आईयूसीएए के अनुसार हमारी गैलेक्सी भी एक सुपरक्लस्टर का हिस्सा है।