Blog single photo

लद्दाख में भारतीय सेना ने चीन बॉर्डर पर किया शक्ति प्रदर्शन, पाकिस्तान के उड़े होश

पूर्वी लद्दाख में सेना के इंटीग्रेटेड युद्धाभ्यास की हैरान करने वाली तस्वीरें सामने आई हैं। बेहुद ऊंचाई वाले दुर्गम इलाकों में संयुक्त अभ्यास की ये तस्वीरें हैं। पूरा इलाका भारतीय युद्धक टैंकों की आवाज़ से गूंज गया। चीन सीमा के नज़दीक पूर्वी लद्दाख में भारतीय सेना ने जल-थल-नभ में अपनी ताकत दिखाते हुए एक बड़ा युद्धाभ्‍यास किया

Indian army

मनीष कुमार, न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (18 अगस्त): पूर्वी लद्दाख में सेना के इंटीग्रेटेड युद्धाभ्यास की हैरान करने वाली तस्वीरें सामने आई हैं। बेहुद ऊंचाई वाले दुर्गम इलाकों में संयुक्त अभ्यास की ये तस्वीरें हैं। पूरा इलाका भारतीय युद्धक टैंकों की आवाज़ से गूंज गया। चीन सीमा के नज़दीक पूर्वी लद्दाख में भारतीय सेना ने जल-थल-नभ में अपनी ताकत दिखाते हुए एक बड़ा युद्धाभ्‍यास किया। इस दौरान लद्दाख के पठार पर युद्ध जैसे माहौल में भारतीय सेना के टी 90 भीष्‍म टैंक की मूवमेंट दिखाई दी। वहीं आसमान से पैराट्रूपर्स उतारे गए।पैराट्रूपर्स की यह लैंडिंग रात के अंधेरे में भी की गई। चीन के साथ हालिया तनाव के बीच भारतीय सेना और एयरफोर्स ने लद्दाख के ऊंचाई वाले इलाकों में जोरदार युद्धाभ्‍यास कर दुश्‍मन को अपनी सैन्‍य ताकत का अहसास कराया।

वैसे ये पहली बार हुआ है जब भारतीय सेना के जवानों ने इस हिस्से में किसी तरह का कोई भी सैन्य अभ्यास किया। जिसके गवाह बने नॉर्थन कमांड के लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह। वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि किस तरह वायुसेना के जवान आसमान से छलांग लगा रहे हैं। किस तरह से टैंक गर्जना करते हुए रणभेरी का शंखनाद कर रहे हैं। वहीं लद्दाख के सर्पीले पठार पर टी 90 टैंक की मूवमेंट सोए हुए दुश्मन की नींद खराब करने के लिए काफी है। युद्धाभ्‍यास में शामिल ये टैंक कोई नार्मल टैंक नहीं बल्कि दुश्मनों के छक्के छुड़ाने वाला सुपर पावर टैंक भीष्म है। जिसके बारे में कहा जाता है कि युद्ध के मैदान में इसके होने मात्र से दुश्मन का कलेजा दहलने लगता है। दुर्गम इलाके और रात के अंधेरे में लैंडिंग करते पैराट्रूपर्स में..विषम परिस्थितियों में पेशेवर क्षमता दिखाने का जज्बा देखने को मिला। जिसकी मिसाल साफ तौर सेना द्वारा भेजे वीडियो में देखा जा सकता है। इस युद्धाभ्‍यास के दौरान सेना के साथ मैकेनाइज्‍ड फोर्स ने भी हिस्‍सा लिया। इतना ही नहीं सेना के हौसला आफजाई के लिए आर्मी कमांडर ने सेना की सभी अंगों के युद्धाभ्यास का हिस्सा बनकर ऑपरेशनल तैयारियों काजायजा भी लिया।

फायर एंड फ्यूरी कॉर्प्‍स के जनरल ऑफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल वायके जोशी ने उन्‍हें इस युद्धाभ्‍यास की जानकारी देते हुए बताया कि इसमें सेना के साथ मैकेनाइज्‍ड फोर्स ने भी हिस्‍सा लिया। लेफि्टनेंट जनरल रणबीर सिंह ने इस मौके पर अत्यधिक दुर्गम इलाके और ऊंचाई जैसी विषम परिस्थितियों में पेशेवर क्षमता और युद्ध लड़ने की क्षमता के उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए कमांडरों और सैनिकों को बधाई दी। उन्‍होंने कहा कि उन्हें पूरा विश्वास था कि उत्तरी कमान युद्ध में उत्कृष्ट प्रदर्शन की विरासत को जारी रखेगी।

ज्यादा जानकारी के लिए देखिए न्यूज 24 की ये खास रिपोर्ट...

Tags :

NEXT STORY
Top