चीन की चाल नाकाम करने नॉन-कांबटिव मोड पर भारतीय सैनिक

नई दिल्ली (3 जुलाई): डोका ला में आमने-सामने के बाद सरहद पर भारत ने और ज्यादा सैनिकों को तैनात कर दिया गया है। सिक्किम के पास डोका ला इलाके में अपनी स्थिति को मजबूत करने के लिए भारत ने और ज्यादा सैनिकों को नॉन-कांबटिव मोड में लगाया है।

क्या है 'नॉन-कांबेटिव मोड' ?

सेना का गैर-लड़ाकू एक्शन होता है नॉन-कांबेटिव मोड

बंदूक की नाल को जमीन की ओर रखकर गश्त की जाती है

भूटान-चीन सीमा पर पीछे से मदद के लिए इंडियन आर्मी ने दो बंकर बनाए थे। चीन ने उसे अपना इलाका बताते हुए बंकर तोड़ दिए। पीएलए ने भारतीय सेना से डोका ला के लालटेन में 2012 में बनाए दो बंकरों को हटाने को कहा था जो चंबी घाटी के पास और भारत-भूटान-तिब्बत ट्राईजंक्शन के कोने में पड़ते हैं। डोका ला उस क्षेत्र का भारतीय नाम है जिसे भूटान डोकालम कहता है, वहीं चीन इसे अपने डोंगलांग क्षेत्र का हिस्सा होने का दावा करता है।

डोकलाम सिक्किम-भूटान और तिब्‍बत की तिहरी सीमा पर स्थित है। इस इलाके में सालों से गश्त कर रही भारतीय सेना ने 2012 में फैसला किया था कि वहां भूटान-चीन सीमा पर सुरक्षा मुहैया कराने के साथ ही पीछे से मदद के लिए दो बंकरों को तैयार रखा जाएगा, लेकिन छह जून की रात में दो चीनी बुलडोजरों ने बंकरों को तबाह कर दिया। हालांकि वहां तैनात भारतीय सैनिकों ने चीनी जवानों नुकसान करने से रोक दिया और पीछे लौटने को मजबूर कर दिया।

चीन की आक्रामक चालों और भारतीय सीमा में अवैध तरीके से घुसकर आंखें दिखाने वाले चीन को जवाब देने के लिए अब सैनिक बढ़ा दिए गए हैं। चीन और अमेरिका में 1962 के बाद इतना तनाव कभी नहीं रहा था। इससे पहले चीन के सैनिकों ने नवंबर 2008 में भी डोका ला में भारतीय सेना के कुछ अस्थाई बंकरों को नष्ट कर दिया था। 2013 में लद्दाख में सीमा पर 21 दिन तक गतिरोध की स्थिति बनी थी।

तब जम्मू-कश्मीर के लद्दाख में दौलत बेग ओल्डी क्षेत्र में चीनी सैनिकों ने भारतीय सीमा में 30 किलोमीटर अंदर डेपसांग प्लेन्स तक प्रवेश कर लिया था और इसके अपने शिनझियांग प्रांत का हिस्सा होने का दावा किया था। हालांकि उन्हें वापस खदेड़ दिया गया। हैरानी की बात तो ये है कि जिस इलाके में चीन तनाव फैला रहा है, वहां भारत और चीन के बीच कोई सीमा विवाद नहीं है। लेकिन चीन इस इलाके में एक स्थाई सड़क का निर्माण करना चाहता है और इसीलिए शातिर चीन ने नया नक्शा जारी करके डोकलाम को अपना इलाका बता दिया।