सेना ने तोड़ी आतंकियों की कमर, नहीं कर पा रहे हैं भर्ती


नई दिल्ली (21 अगस्त): जम्मू-कश्मीर में सेना आतंकियों को चुन-चुनकर मौत के घाट उतार रही है। सेना ने अपने ऑपरेशन में इस साल करीब 132 आंतकियों का सफाया किया है। वहीं इस साल करीब 71 युवक आतंकवादी कैंपों में शामिल हुए। इसके अलावा करीब 78 आतंकी जुलाई तक सीमापार से घाटी में आए।

खबर के अनुसार, जुलाई 2016 में कुल 123 आंतकी सीमापार से कश्मीर घाटी में दाखिल हुए थे। इंटेलिजेंस सूत्रों के मुताबिक सेना ने इस साल 132 आंतकियों का सफाया जुलाई तक किया है। पुख्ता जानकारी और सेना का अन्य सिक्युरिटी एजेंसियों के साथ बेहतर तालमेल होने के कारण जुलाई तक 74 विदेशी और 58 स्थानीय आंतकियों को मार गिराया।

इस साल जुलाई तक सेना ने जिन आंतकियों का मार गिराया उनमें 14 लश्कर, हिज्बुल मुजाहिद्दीन और अल बद्रर के थे। इन आतंकियों में दो A++, चार A+ और आठ A कैटेगिरी के शामिल हैं। बुरहान हानी की मौत के बाद सेना और अन्य एजेंसियां जाकिर मुसा को खोजने में लगे हैं। वानी को पिछले साल 8 जुलाई को सेना ने मार गिराया था।

8 अगस्त को दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल इलाके में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच चल रही मुठभेड़ में सेना के हाथ बड़ी सफलता लगी थी। सुरक्षा बलों ने तीन आतंकी मार गिराए थे जोकि जाकिर मूसा के आतंकी संगठन अंसार गजवत उल हिंद के हैं।