सीमा पार घुस कर मारेगी इंडियन आर्मी, अब आतंकियों को नहीं बचा पायेगा पाकिस्तान!

नई दिल्ली (20 फरवरी): पाकिस्तान ने अफगानिस्तान में स्थित आतंकियों के कथित ठिकानों पर हमला बोल कर अपने लिए मुसीबत मोल ले ली है। अब कश्मीर में आतंकियों के ठिकानों पर भारतीय सेना के ऑप्रेशंस का पाकिस्तान विरोध नहीं कर पायेगा। हालांकि पाकिस्तान सरकार ने इन हमलों की अधिकारिक पुष्टि नहीं की है लेकिन मीडिया में प्रसारित पिक्चर्स से इन हमलों की पुष्टि हुई है।

 यह पहला मौका है जब पाकिस्तानी सेना ने अपनी सीमा से बाहर निकल कर अफगानिस्तान की जमीन पर हमला किया है। अफगानिस्तान में ऑपरेशन चलाने से कुछ ही घंटे पहले पाक आर्मी ने लाल शाहबाज कलंदर दरगाह पर आत्मघाती हमले के तार सीमा पार के आतंकवादियों से जुड़े होने का दावा किया था। हमले के तुरंत बाद पाकिस्तान ने दावा किया कि इसकी योजना अफगानिस्तान में स्थित उग्रवादी ठिकानों में बनायी गयी थी। पाक मिलिटरी के सूत्रों ने कहा कि अफगानिस्तान में सेना ने शुक्रवार रात हमला किया। लेकिन, इस पर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है। 

एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान के खैबर और मोहमंद आदिवासी एजेंसियों की सीमा से सटे अफगानी इलाकों में पाक सेना ने हमले किए। इनमें जमात-उल-अहरार आतंकी संगठन के चार कैंपों को निशाना बनाया गया। एक अधिकारी ने बताया कि जमात-उल-अहरार ग्रुप के प्रमुख उमर खालिद खुरासैनी के कुछ प्रशिक्षण शिविरों को निशाना बनाने के लिए सुरक्षा बलों ने भारी हथियारों और मोर्टार शेल्स का इस्तेमाल किया। 

खैबर एजेंसी में लंदीकोटल के पास के लोगों से उनके घर खाली करवा लिए गए ताकि किसी तरह के नुकसान से बचा जा सके। कुछ रिपोर्टों में कहा गया है कि जमात-उल-अहरार के डेप्युटी कमांडर आदिल बाचा समेत कुछ उग्रवादी हमले में मारे गए।