ऑपरेशन इंडियन: सऊदी से 10 हजार भारतीयों को 'एयरलिफ्ट' करेंगे जनरल

नई दिल्ली (1 अगस्त): सऊदी अरब में फंसे भारतीय कामगारों के मुद्दे को सरकार ने तत्काल गंभीरता से लिया। वहां फंसे सभी भारतीयों को वापस लाने के लिए कल यानि मंगलवार को जनरल वीके सिंह वहां जाएंगे।

फिर जनरल के कंधों पर जिम्‍मेदारी... पहले यमन फिर सूडान और अब सऊदी अरब, विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह एक बार फिर से एक बड़े रेस्‍क्‍यू ऑपरेशन के लिए तैयार हैं, जिसमें दांव पर लगी है 10,000 भारतीयों की जिंदगी। इस समय सऊदी अरब में 10,000 भारतीय फंसे हुए हैं और इनकी हालत इतनी खराब है कि खाने तक के लाले हैं।

इन भारतीयों ने ट्विटर का सहारा लिया और विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज से मदद की अपील की। ऐसे में एक बार फिर विदेश राज्‍य मंत्री जनरल वीके सिंह इन भारतीयों के लिए उम्‍मीद की किरण बनकर उभरे हैं। अगर आपको याद हो तो अप्रैल 2015 में भारत ने यमन में बसे भारतीयों को सुरक्षित निकालने के लिए ऑपरेशन राहत की शुरुआत की थी। इसकी अगुवाई जनरल वीके सिंह ने ही की थी।

सऊदी अरब और कुवैत में बड़ी संख्या में भारतीयों की नौकरी छिनी... - सऊदी अरब और कुवैत में बड़ी भारतीयों को अपनी नौकरी गंवानी पड़ी है, इसके चलते उनके सामने आजीविका का संकट पैदा हो गया है। - यह लोगों जिन कंपनियों में काम कर रहे थे, उन कंपनियों के मालिकों ने अपनी-अपनी कंपनी और फैक्ट्री बद कर दी है। - साथ ही कंपनी और फैक्ट्री मालिकों ने उनके बकाये वेतन का भुगतान भी नहीं किया है। - विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के मुताबिक सऊदी अरब में करीब 10,000 लोगों के सामने खाने का भी संकट है। - विदेश मंत्री ने सऊदी अरब में बसे 30 लाख भारतीय समुदाय से अपने परेशान भाइयों की मदद करने की अपील की है। - साथ ही उन्होंने सऊदी अरब स्थित भारतीय दूतावास से बेरोजगार भारतीय मजदूरों को मुफ्त में राशन मुहैया कराने का आदेश दिया है। - उन्होंने कहा, 'मैं आश्वस्त करना चाहती हूं कि सऊदी में बेरोजगार हो गया कोई भी भारतीय कामगार भूखा नहीं रहेगा। मैं हर घंटे इस पर नजर रख रही हूं।' - विदेश मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक समस्या को सुलझाने के लिए विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह को सऊदी अरब जा रहे हैं। - वह कुवैत और सऊदी अरब की अथॉरिटीज से बातचीत कर मामले को सुलझाने की कोशिश करेंगे। - फिलहाल कितने भारतीयों को सऊदी और कुवैत में अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा, इस बात की पूरी जानकारी अभी नहीं मिली है।