पाक को जवाब देने के लिए वायुसेना के बाद नौसेना से मिलेंगे रक्षा मंत्री

नई दिल्ली (24 अक्टूबर): पाकिस्तान के लगातार सीजफायर का उल्लंघन करने के बाद रक्षा हालात के तेजी से बदलते घटनाक्रम के बीच तीनों सेनाओं के अंदर टॉप लेवल पर ऑपरेशनल तैयारियों का जायजा लिया जा रहा है। इसी सिलसिले में नौसेना के कमांडरों की कॉन्फ्रेंस राजधानी में 25 से 27 अक्टूबर के बीच होगी। इसमें रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर नौसेना के कमांडरों से बात करेंगे।

इस मौके का उपयोग नौसेना की टॉप लीडरशिप और सरकारी अधिकारियों के बीच कोऑर्डिनेशन बढ़ाने के लिए भी होगा। हाल में थल सेना अध्यक्ष दलबीर सिंह सुहाग भी सेना की ऑपरेशनल तैयारियों का जायजा लेने के लिए पश्चिमी मोर्चे और कश्मीर जा चुके हैं। वायुसेना ने पिछले महीने एक्सर्साइज 'टैलोन' के जरिये अपनी तैयारियों पर गौर किया था। इस एक्सर्साइज में श्रीनगर से बीकानेर के बीच 18 एयरबेस शामिल थे।

रक्षा मंत्री ने 13 अक्टूबर को वायुसेना के कमांडरों के साथ बैठक भी की थी। थलसेना और वायुसेना की तरह नौसेना भी अपनी ऑपरेशनल तैयारियों का लेवल ऊंचा बनाए रखने की कोशिश में है ताकि किसी भी खतरे की स्थिति का मुंहतोड़ जवाब दिया जा सके।