ISI के हनीट्रैप में फंसा एयरफोर्स का ग्रुप कैप्टन, खुफिया सूचना देने के आरोप में गिरफ्तार

नई दिल्ली ( 9 फरवरी ): दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने एयर फोर्स के ग्रुप कैप्टन अरुण मारवाह को वासुसेना की ख़ुफ़िया जानकारी लीक करने के मामले मे गिरफ़्तार किया है। दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने पत्रकारों को इस बात की जानकारी दी। प्रमोद कुशवाहा के मुताबिक अरुण मारवाह को ऑफिशल सीक्रेट एक्ट की अलग-अलग धाराओं के तहत एफ़आईआर दर्ज़ कर गिरफ़्तार किया गया है। 

प्रमोद कुशवाहा ने कहा कि एयरफोर्स की शिकायत पर गिरफ्तारी की गई है। उन्होंने कहा कि अरुण मारवाह के खिलाफ आरोप है कि उन्होंने सीक्रेट डाक्यूमेंट्स लीक किया है। प्रमोद कुशवाहा ने कहा कि सेंसिटिव मामला है इसलिए कौन-कौन से डॉक्युमेंट्स हैंये हम नहीं बता सकते। उन्होंने कहा कि यह हनीट्रैप का मामला लगता है, लेकिन जांच के बाद साफ होगा। अरुण मारवाह को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया और 5 दिन की रिमांड लिया गया है। अभी इस मामले की जांच जारी है। 

डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने कहा कि अगले साल अरुण मारवाह का रिटायरमेंट होना है। कुशवाहा ने कहा कि मारवाह ने अपने अधिकारियों और स्पेशल सेल के सामने सीधा कबूल लिया कि उन्होंने डाॅक्युमेंट्स लीक किए हैं। मारवाह की दो तीन महीने से फेसबुक पर लड़कियो के नाम से किरण रंधावा और महिमा पटेल की आईडी से दोस्ती हुई थी। 

प्रमोद कुशवाहा ने कहा कि अभी तक की जांच में सामने आया है कि इनसे सिर्फ चैट होती थी, कभी कोई कॉल, वीओआईपी कॉल कुछ नहीं हुआ, सामने कोई लड़की थी ही नहीं सब फर्जी अकाउंट था। चैट पर अश्लील बात होती थीं।