100 साल की इस भारतीय दादी ने रेस में जीता गोल्ड मेडल

वैंकुवर (30 अगस्त): ब्रिटिश के कोलंबिया वैंकुवर में हुई एक रेस में भारत की मन कौर ने 100 मीटर की दूरी तय करने में 81 सेकंड में तय करके गोल्ड मेडल जीता। हालांकि बुजुर्गों के लिए हुई इस प्रतियोगिता में 100 वर्षीय कौर अपने आयुवर्ग में अकेली महिला थीं।

मनकौर ने जब फिनिशिंग लाइन क्रॉस की तो उनके कई प्रतिद्वंद्वी जिनमें से अधिकतर उम्र 70 से 90 साल के बीच थी उनका हौसला बढ़ाने के लिए खड़े थे। कौर के 78 वर्षीय बेटे गुरदेव सिंह ने कहा कि वह जीत गई हैं। वह भारत वापस जाकर सबको यह बताने के लिए उत्साहित हैं कि उन्होंने देश के लिए कितने मेडल जीते हैं।

दौड़ खत्म होने के बाद कौर ने खुशी से अपने दोनों हाथ हवा में उठाकर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। वह बामुश्किल बोल पा रहीं थीं। इससे पहले उन्होंने भाला फेंक और शॉट पुट में भी मेडल जीता था। यह प्रतियोगिता 30 वर्ष से ऊपर के ऐथलीट्स के लिए होती है। इस प्रतियोगिता में औसत उम्र 49 साल थी। यहां पर उम्र में कौर से बड़ा सिर्फ एक ऐथलीट थे निहाल गिल थे जिनकी उम्र 101 साल थी।