सुप्रीम कोर्ट आज राजीव गांधी हत्याकांड के दोषी पेरारिवलन की रिहाई याचिका पर सुनाएगा फैसला

देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के दोषियों में से एक एजी पेरारिवलन की रिहाई वाली याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला सुना सकता है।

सुप्रीम कोर्ट आज राजीव गांधी हत्याकांड के दोषी पेरारिवलन की रिहाई याचिका पर सुनाएगा फैसला
x

नई दिल्ली: देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के दोषियों में से एक एजी पेरारिवलन की रिहाई वाली याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला सुना सकता है। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने राजीव गांधी की हत्या से जुड़े मामले में उम्रकैद की सजा काट रहे पेरारिवलन की समयपूर्व रिहाई की मांग करने वाली याचिका पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। पेरारिवलन ने अपनी याचिका में तमिलनाडु सरकार की ओर से सितंबर 2018 में की गई सिफारिश को आधार बनाया है। 





और पढ़िए – किसानों के विरोध का सामना कर रहे पंजाब के सीएम मान बोले- सब कुछ ठीक कर दूंगा, सिद्धू ने पूछे ये सवाल




जानकारों का कहना है कि अगर फैसला पेरारिवलन पक्ष में आता है तो नलिनी श्रीहरन, मरुगन, एक श्रीलंकाई नागरिक सहित मामले में अन्य 6 दोषियों की रिहाई की उम्मीद भी जग जाएगी।


राजीव गांधी हत्याकांड मामले में सात लोगों को दोषी ठहराया गया था. सभी को मौत की सजा सुनाई गई थी, लेकिन साल 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने इसे आजीवन कारावास में बदल दिया। 2016 और 2018 में जे जयललिता और एके पलानीसामी की सरकार ने दोषियों की रिहाई की सिफारिश की थी। मगर बाद के राज्यपालों ने इसका पालन नहीं किया और अंत में इसे राष्ट्रपतिके पास भेज दिया। लंबे समय तक दया याचिका पर फैसला नहीं होने की वजह से दोषियों ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था।





और पढ़िए – Gyanvyapi Masjid Vivad: ज्ञानवापी केस में आज 11 बजे इन तीन मामलों में सुनवाई करेगा वाराणसी कोर्ट




आपको बता दें 21 मई 1991 को पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की तमिलनाडु के श्रीपेरंबुदूर में हत्‍या हुई थी और 11 जून 1991 को पेरारिवलन को गिरफ्तार किया गया था। हत्‍याकांड में बम धमाके के लिए उपयोग में आई दो 9 वोल्‍ट की बैटरी खरीद कर मास्‍टरमाइंड शिवरासन को देने का दोष पेरारिवलन पर सिद्ध हुआ था। पेरारिवलन घटना के समय 19 साल का था और वह पिछले 31 सालों से सलाखों के पीछे है। पेरारिवलन ने जेल में रहने के दौरान अपनी पढ़ाई जारी रखी। उसने अच्छे नंबरों से कई डिग्रियां हासिल की है।  






और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें






Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story