मई में नहीं ढाहा जाएगा सुपरटेक ट्विन टावर्स, सुप्रीम कोर्ट से तीन महीने की मिली मोहलत

सुपर टेक ट्विन टावर्स अब मई महीने में नहीं गिराई जाएगी। सुप्रीम कोर्ट ने सुपरटेक ट्विन टावरों को गिराने के लिए समय सीमा अब 28 अगस्त तक बढ़ा दी है।

मई में नहीं ढाहा जाएगा सुपरटेक ट्विन टावर्स, सुप्रीम कोर्ट से तीन महीने की मिली मोहलत
x

नई दिल्ली: सुपर टेक ट्विन टावर्स अब मई महीने में नहीं गिराई जाएगी। सुप्रीम कोर्ट ने सुपरटेक ट्विन टावरों को गिराने के लिए समय सीमा अब 28 अगस्त तक बढ़ा दी है। उत्तर प्रदेश के नोएडा में 40 मंजिला ट्विन टावर्स बने हैं। डिमोलिशन एजेंसी एडिफाइस इंजीनियरिंग की प्रार्थना पर कोर्ट ने 28 अगस्त 2022 तक का समय दे दिया। पहले टावर्स को  22 मई तक गिराने के आदेश दिए गए थे। 


बता दें कि नोएडा के सेक्टर-93ए में बनी सुपरटेक एमराल्ड कोर्ट सोसाइटी में स्थित अवैध करार दिए जा चुके इन टि्वन टावर्स को ढहाने की तैयारियों में देरी होने से डेमोलिशन का काम संभाल रही कंपनी एडिफिस इंजीनियरिंग ने सुप्रीम कोर्ट से समय सीमा 28 अगस्त तक बढ़ाने की मांग की थी। सुप्रीम कोर्ट ने कंपनी की इस मांग को मानते हुए समय सीमा बढ़ा दी है। 


अनुमान के मुताबिक इसे गिराने में 3,400 किलो विस्फोटक लगेगा। पहले टावर्स को गिराने में 2,500 किलो विस्फोटक लगने का अनुमान लगाया गया था। ट्रायल के बाद बताया गया कि टावर्स बहुत मजबूत है इसलिए ज्यादा विस्फोटक की जरूरत होगी। टावर्स को गिराने के लिए ट्रायल ब्लास्ट भी किया जा चुका है। ट्रायल ब्लास्ट 10 अप्रैल को हुआ था। वहीं अब इसे गिराने के तारीख 28 अगस्त कर दी गई है।


Next Story