सपा नेता ने लिसिप्रिया को बताया विदेशी, जवाब मिला-मैं एक गौरवान्वित भारतीय हूं...

भारत की अंतरराष्ट्रीय पर्यावरण कार्यकर्ता लिसिप्रिया कंगुजम को एक सपा नेता ने विदेशी बताते हुए ट्वीट कर दिया। जिसके बाद ट्विटर पर उनकी फजीहत शुरू हो गई। ट्वीट का पहला जवाब खुद लिसिप्रिया कंगुजम ने दिया। कहा कि सर मैं एक गौरवांवित भारतीय हूं। सपा नेता का ट्वीट जमकर ट्रोल हो रहा है।

सपा नेता ने लिसिप्रिया को बताया विदेशी, जवाब मिला-मैं एक गौरवान्वित भारतीय हूं...
x

आगराः भारत की अंतरराष्ट्रीय पर्यावरण कार्यकर्ता लिसिप्रिया कंगुजम को एक सपा नेता ने विदेशी बताते हुए ट्वीट कर दिया। जिसके बाद ट्विटर पर उनकी फजीहत शुरू हो गई। ट्वीट का पहला जवाब खुद लिसिप्रिया कंगुजम ने दिया। कहा कि सर मैं एक गौरवांवित भारतीय हूं। सपा नेता का ट्वीट जमकर ट्रोल हो रहा है।




दरअसल 21 जून को भारत की अंतरराष्ट्रीय पर्यावरण कार्यकर्ता लिसिप्रिया कंगुजम ने ताजमहल के पीछले हिस्से में यमुना किनारे खड़े होकर एक फोटो अपने ट्विटर पर ट्वीट की थी। इस दौरान उनके हाथ में एक तख्ती थी, जिस पर लिखा था 'ताजमहल की खूबसूरती के पीछे प्लास्टिक कचरा बिखरा पड़ा है'। इस फोटो पर सपा के डिजिटल मीडिया कोर्डिनेटर मनीष जगन अग्रवाल ने उनको विदेशी बताते हुए री-ट्वीट कर दिया। 







लिसीप्रिया के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए सपा के डिजिटल मीडिया कॉर्डिनेटर मनीष जगन अग्रवाल ने लिखा कि विदेशी पर्यटक भी भाजपा शासित योगी सरकार को आइना दिखाने को मजबूर हैं। भाजपा की सरकार में यमुना जी गंदगी से भरी पड़ी हैं, ताजमहल की खूबसूरती पर ये गंदगी एक बदनुमा दाग है, विदेशी पर्यटक द्वारा सरकार को आइना दिखाना बेहद शर्मनाक है। इसके अलावा उन्होंने और भी कुछ लिखा। 




यह भी पढ़े-10 साल की अंतरराष्ट्रीय पर्यावरण कार्यकर्ता ने दिखाए ताजमहल की खूबसूरती पर लगे दाग, अधिकारी बोले-रोज सफाई होती है...



इस ट्वीट का जवाब सबसे पहले लिसीप्रिया ने मनीष जगन अग्रवाल को दिया। लिखा, हेलो सर। मैं एक गौरवान्वित भारतीय हूं। मैं विदेशी नहीं हूं। उन्होंने लिखा, सर, मैंने अपने देश का प्रतिनिधित्व संयुक्त राष्ट्र में 8वीं बार 10 वर्ष की आयु तक किया, मुझे 'विदेशी' नहीं कहें। नॉर्थ ईस्ट के लोगों के प्रति इस तरह के नस्लवादी रवैये को रोकें। यह किसी भी कीमत पर अस्वीकार्य है।




इस फजीहत के बाद मनीष अग्रवाल ने सफाई पेश करते हुए फिर ट्वीट किया और लिखा इस तस्वीर को कल एक न्यूज चैनल ने दिखाया था, जिसमें भारत की इस बेटी को विदेशी बताया गया। चैनल की गलत खबर की वजह से समझने में भूल हुई। भारत की इस बेटी के पर्यावरण बचाओ अभियान की सराहना है और हम सब भारत की इस बेटी लिसीप्रिया के साथ हैं, जो भी भ्रम हुआ वो न्यूज चैनल की वजह से हुआ।

Next Story