40 विधायकों के साथ गुवाहटी पहुंचे एकनाथ शिंदे, कहा- बालासाहेब ठाकरे के हिंदुत्व को आगे बढ़ाएंगे

शिवसेना के करीब 40 बागी विधायकों का एक समूह अपने नेता एकनाथ शिंदे के साथ बुधवार को गुजरात के सूरत स्थित अपने होटल से निकला और सुबह करीब सात बजे असम पहुंचा।

40 विधायकों के साथ गुवाहटी पहुंचे एकनाथ शिंदे, कहा- बालासाहेब ठाकरे के हिंदुत्व को आगे बढ़ाएंगे
x

सूरत: शिवसेना के करीब 40 बागी विधायकों का एक समूह अपने नेता एकनाथ शिंदे के साथ बुधवार को गुजरात के सूरत स्थित अपने होटल से निकला और सुबह करीब सात बजे असम पहुंचा। गुवाहाटी हवाई अड्डे पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दो नेताओं ने शिवसेना के बागी विधायकों की अगवानी की।


गुवाहाटी हवाई अड्डे पर मीडिया से बात करते हुए, ठाणे जिले के एक विधायक 58 वर्षीय शिंदे ने कहा, "यहां शिवसेना के कुल 40 विधायक मौजूद हैं। हम बालासाहेब ठाकरे के हिंदुत्व को आगे बढ़ाएंगे।"


इससे पहले सूरत अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर मीडिया से बात करते हुए शिंदे ने कहा, ''हमने बालासाहेब ठाकरे की शिवसेना को नहीं छोड़ा है और नहीं छोड़ेंगे।''





और पढ़िए – महाराष्ट्र राजनीतिक संकट: कांग्रेस ने कमलनाथ को नियुक्त किया पर्यवेक्षक







शिवसेना विधायकों की अगवानी करने वाले भाजपा विधायक सुशांत बोरगोहेन ने कहा कि वह निजी संबंधों के लिए हवाई अड्डे पर आए हैं। जब उनसे असम आए शिवसेना के कुल विधायकों की संख्या बताने को कहा गया तो उन्होंने कहा कि उनकी गिनती नहीं है।


समाचार एजेंसी आईएएनएस ने शिंदे के हवाले से कहा, "मेरे और शिवसेना के विधायक चाहते हैं कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे भाजपा के साथ गठबंधन में सरकार बनाएं, मैंने पार्टी नहीं छोड़ी है।"


उन्होंने आगे पुष्टि की कि उन्होंने उद्धव ठाकरे के साथ बातचीत की और 'जय महाराष्ट्र' और 'गर्व से कहो हम हिंदू है' के नारे भी लगाए।


विधायक नितिन देशमुख (जिन्हें सीने में दर्द की शिकायत के बाद मंगलवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था) उन्हें बस से उतरकर स्पाइसजेट एयरलाइन के बोर्डिंग काउंटर पर जाते देखा गया।


सभी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद शिवसेना के बागी विधायक विमान में सवार हो गए, जिसमें 200 यात्री सवार हो सकते हैं। बोर्डिंग की प्रक्रिया सुबह चार बजे तक चल रही थी।




सोमवार रात सूरत पहुंचने पर एकनाथ शिंदे और महाराष्ट्र से शिवसेना के बागी विधायक डुमास रोड स्थित ली मेरिडियन होटल में रुके थे। अब कुछ अज्ञात कारणों से उन्हें असम के गुवाहाटी के लिए रवाना किया गया है।




शिवसेना के बागी विधायक बुधवार तड़के करीब 2:15 बजे भाजपा विधायकों और कार्यकर्ताओं के साथ तीन बसों में से एक में सवार होने लगे। एयरपोर्ट पर उनके साथ बीजेपी नेता मोहित कंभोज और संजय कुटे भी थे।


महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को शिवसेना नेता मिलिंद नार्वेकर और रवींद्र फाटक को बागियों से बात करने के लिए होटल भेजा। हालांकि, ऐसा लगता है कि बातचीत अच्छी नहीं रही।


इस बीच, महाराष्ट्र के एक वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा कि शिवसेना पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ किसी भी टकराव से बचने के लिए शिवसेना के विधायकों को गुवाहाटी ले जाया जा रहा है।





और पढ़िए – असम के सीएम की पत्नी ने मनीष सिसोदिया के खिलाफ किया 100 करोड़ रुपये का मानहानि का केस





पीटीआई से बात करते हुए, भाजपा नेता ने कहा, "हम सुरक्षा कारणों से विधायकों को गुवाहाटी ट्रांसफर कर रहे हैं। सूरत मुंबई के बहुत करीब होने के कारण नाराज शिवसेना कार्यकर्ताओं से कुछ प्रतिक्रिया हो सकती है।"


कई विधायक और शिंदे विधान परिषद चुनावों के कुछ घंटे बाद सोमवार की रात सूरत होटल पहुंचे, जिसमें विधानसभा में पर्याप्त संख्या में नहीं होने के बावजूद भाजपा को पांचवीं सीट मिली, संभवतः सत्तारूढ़ ब्लॉक से क्रॉस-वोटिंग और निर्दलीय व छोटे दल के समर्थन के कारण।


परिणाम घोषित होने के बाद शिंदे संपर्क में नहीं आए और बाद में पता चला कि वह पार्टी के कुछ सदस्यों के साथ होटल में डेरा डाले हुए हैं।








और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें






Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story