Punjab Election 2022: चन्‍नी या सिद्धू कौन होगा कांग्रेस का CM चेहरा, सोनिया गांधी ने संभाला मोर्चा

Punjab Election 2022: विधानसभा चुनाव को लेकर पंजाब में सियासी घमासान जोरों पर है। कांग्रेस समते तमाम पार्टियां अपने-अपने तरीके से वोटरों के रिझाने में जुटी है। लेकिन कांग्रेस की मुश्किल राज्य में मुख्यमंत्री चेहरा को लेकर है।

Punjab Election 2022: चन्‍नी या सिद्धू कौन होगा कांग्रेस का CM चेहरा, सोनिया गांधी ने संभाला मोर्चा
x

नई दिल्ली: विधानसभा चुनाव को लेकर पंजाब में सियासी घमासान जोरों पर है। कांग्रेस समते तमाम पार्टियां अपने-अपने तरीके से वोटरों के रिझाने में जुटी है। लेकिन कांग्रेस की मुश्किल राज्य में मुख्यमंत्री चेहरा को लेकर है। इस रेस में मौजूद मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और राज्य में पार्टी अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू सबसे आगे हैं। खबरों के मुताबिक पंजाब कांग्रेस के लिए सीएम पद के चेहरा की घोषणा खुद पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी एक दो दिन में कर सकती हैं।


पिछले साल सितंबर में कांग्रेस ने अमरिंदर सिंह को हटाकर चरणजीत सिंह चन्नी ने पंजाब के मुख्यमंत्री में ताजपोशी की थी। लेकिन नए मुख्यमंत्री चन्नी के साथ भी सिद्धू के संबंध सहज नहीं रहे। दोनों राज्य में खुद को पार्टी का सीएम चेहरा बनाने के लिए जोर आजमाइश में जुटे हैं।


सिद्धू और चन्नी की बीच बढ़ रही प्रतिद्वंद्विता को लेकर कांग्रेस दुविधा में है। खबरों के मुतबिक इस उलझन से निपटने के लिए पार्टी ने अपने इन-हाउस 'शक्ति' ऐप के माध्यम से सदस्यों की राय मांगी है और कहा जा रहा है कि परामर्श अब अंतिम चरण में है।



और पढ़िए – चुनाव आयोग ने 11 फरवरी तक शारीरिक रैलियों पर बढ़ाया प्रतिबंध




सूत्रों की मानें तो सीएम चरणजीत चन्नी आगे चल रहे हैं। पंजाब कांग्रेस चीफ नवजोत सिद्धू इस रेस में पिछड़े हुए हैं। सिद्धू- चन्नी के अलावा सुनील जाखड़ और प्रताप बाजवा का नाम भी इसमें आ रहा है। कांग्रेस ने जिस तरह पंजाब में एक दलित सीएम बनाया। अब अगर कोई दूसरा चेहरा हुआ तो पंजाब में सीधे तौर पर दलितों में गलत संदेश जाएगा। वहीं 32 फीसदी दलित वोट बैंक भी कांग्रेस से काफी हद तक छिटक जाएगा।  


गौरतलब है कि पिछले दिनों राहुल गांधी ने पंजाब में जाकर घोषणा की थी कि पार्टी जल्द ही एक मुख्यमंत्री उम्मीदवार की घोषणा करेगी। राहुल गांधी ने ये भी कहा था कि दो लोग नेतृत्व नहीं कर सकते, केवल एक ही कर सकता है। राहुल गांधी ने कहा था कि 'हम जल्द से जल्द मुख्यमंत्री उम्मीदवार की आपकी मांग को पूरा करेंगे। आम तौर पर, हम मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित नहीं करते हैं, लेकिन अगर कांग्रेस कार्यकर्ता चाहते हैं, तो हम एक चेहरे का भी चयन करेंगे। लेकिन इसके लिए हम कांग्रेस कार्यकर्ताओं से परामर्श करेंगे। वे फैसला करेंगे।'

 


आपको बता दें कि पंजाब में 20 फरवरी को मतदान होगा और 10 मार्च को नतीजे आएंगे। 


और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

 

 

Next Story