अग्निपथ विवाद पर पहली बार बोल PM मोदी, कहा-कई निर्णय पहले अनुचित लग सकते हैं, लेकिन...

अग्निपथ रक्षा भर्ती नीति के खिलाफ कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन जारी है। इस बीच प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि कई निर्णय पहले अनुचित लग सकते हैं, लेकिन बाद में राष्ट्र निर्माण में मदद करते हैं।

अग्निपथ विवाद पर पहली बार बोल PM मोदी, कहा-कई निर्णय पहले अनुचित लग सकते हैं, लेकिन...
x

बेंगलुरु: अग्निपथ रक्षा भर्ती नीति के खिलाफ कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन जारी है। इस बीच प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि कई निर्णय पहले अनुचित लग सकते हैं, लेकिन बाद में राष्ट्र निर्माण में मदद करते हैं। पीएम मोदी ने बेंगलुरु में एक सार्वजनिक संबोधन में कहा, "वर्तमान में कई फैसले अनुचित लगते हैं। समय के साथ, वे फैसले राष्ट्र के निर्माण में मदद करेंगे।"


बेंगलुरु से दिया संदेश

बेंगलुरु पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिना इस योजना का नाम लिए युवाओं को एक बड़ा संदेश दिया है। पीएम ने कहा कि सरकार ने स्पेस और डिफेंस सेक्टर को युवाओं के लिए खोल दिया है। पीएम ने कहा कि ड्रोन से लेकर दूसरी सभी टेक्नोलॉजी में युवाओं को अवसर मिल रहे हैं। मोदी ने इस बात पर भी खुशी भी जाहिर की कि पिछले 8 साल में 100 से अधिक बिलियन डॉलर कंपनियां खड़ी हुई हैं, जिसमें हर महीने नई कंपनियां जुड़ रही हैं।  





और पढ़िए – अग्निपथ योजना: भारतीय वायु सेना ने 'अग्निवीर' भर्ती के लिए नोटिफिकेशन किया जारी, यहां देखें पूरी डिटेल






कर्नाटक को 28,000 करोड़ की सौगात

पीएम नरेंद्र मोदी आज यानी सोमवार से कर्नाटक के दो दिवसीय दौरे पर हैं। इस दौरान उन्होंने 28,000 करोड़ रुपये से अधिक की रेल और सड़क बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। इस मौके पर पीएम ने कहा है कि बैंगलुरू को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए रेल, रोड, मेट्रो, अंडरपास, फ्लाईओवर, हर संभव माध्यमों पर डबल इंजन की सरकार काम कर रही है। 


अग्निपथ का जारी है विरोध

बता दें कि कुछ संगठनों ने शर्ट-टर्म भर्ती योजना को लेकर आज अखिल भारतीय हड़ताल का आह्वान किया है। दिल्ली से लेकर बिहार तक विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं।  आज रेलवे द्वारा 500 से अधिक ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है, जिसे पिछले सप्ताह घोषणा के बाद से प्रदर्शनकारियों द्वारा आगजनी और तोड़फोड़ के कारण संपत्ति का बड़ा नुकसान हुआ है। रविवार को भारतीय सेना ने स्पष्ट कर दिया है कि इस योजना को किसी भी सूरत में वापस नहीं लिया जाएगा, और जो लोग उपद्रव या हिंसा में शामिल हो रह हैं उन्हें इस भर्ती में शामिल होने नहीं दिया जाएगा।


विरोध के बीच  भारतीय सेना ने 'अग्निपथ योजना' के तहत 'अग्निवीर भर्ती'  रैली (Agniveer Recruitment) के लिए आज, 20 जून 2022 को नोटिफिकेशन जारी कर दिया है।










और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें






Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story