सांसद नवनीत राणा और विधायक रवि राणा ने मुंबई महानगरपालिका के नोटिस के खिलाफ दावा लिया वापस

मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने का दावा करने वाली सांसद नवनीत राणा और उनके पती विधायक रवि राणा ने मंगलवार को खार में एक फ्लैट के अनधिकृत निर्माण के मामले में मुंबई महानगरपालिका द्वारा जारी नोटिस के खिलाफ दिंडोशी अदालत में दायर अपना मुकदमा वापस ले लिया।

सांसद नवनीत राणा और विधायक रवि राणा ने मुंबई महानगरपालिका के नोटिस के खिलाफ दावा लिया वापस
x

मुंबई: मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने का दावा करने वाली सांसद नवनीत राणा और उनके पती विधायक रवि राणा ने मंगलवार को खार में एक फ्लैट के अनधिकृत निर्माण के मामले में मुंबई महानगरपालिका द्वारा जारी नोटिस के खिलाफ दिंडोशी अदालत में दायर अपना मुकदमा वापस ले लिया। फ्लैट में किये गए अवैध निर्माण को नियमित करने के लिए राणा दंपत्ति मुंबई महानगरपालिका को एक प्रस्ताव प्रस्तुत करेंगे।




और पढ़िए – उत्तराखंड में आप के CM उम्मीदवार रहे अजय कोठियाल भाजपा में शामिल




बीएमसी ने राणा दंपत्ति को उनके घर में हुए अवैध निर्माण की जांच के लिए नोटिस भेजा और उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया, जिस काजवाब देने के लिए उनको 7 दिन का समय दिया गया। राणा दंपत्ति ने 7 दिन के भीतर इस नोटिस का जवाब भी दिया, लेकिन बीएमसी को उनके द्वारा दी गई दलीलें रास नहीं आई।


वहीं बीएमसी के इस नोटिस के खिलाफ़ राणा दंपत्ति ने मुंबई के दिंडोशी अदालत में चुनौती दी थी, जिसके बाद बीएमसी ने राणा को अगले 15 दिन में अवैध निर्माण गिरने का नोटिस थमाते हुए कहा कि राणा दंपत्ति अगर अपने फ्लैट में किये गए अवैध निर्माण को नहीं गिराती तो बीएमसी गिराएगी और इस कार्रवाई में जो खर्च होगा वो राणा दंपत्ति से वसूला जायेगा।


मंगलवार को इस मामले की सुनवाई कोर्ट में हुई, तब फ्लैट में किये गए अवैध निर्माण को नियमित करने के लिए मुंबई महानगरपालिका को एक प्रस्ताव प्रस्तुत करने जा रहे है। यह राणा दंपत्ति के वकीलों ने कोर्ट को बताते हुए कहा कि इसीलिए वो बीएमसी नोटिस के खिलाफ़ किया गया दावा वापस ले रहे है। तभी कोर्ट ने 1 महीने के भीतर फ्लैट में किये गए निर्माण को वैध करने के लिए बीएमसी के पास अर्जी करने का वक़्त राणा दंपत्ति को दिया।






और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें






Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story