दिल्‍ली हिंसा में मारे गए पुलिसकर्मी की पत्‍नी को मिली टीवी से खबर

दिल्‍ली में नागरिकता कानून के विरोध में हिंसा कई इलाकों में फैल चुकी है। मीडिया पर लगातार हिंसा के वीडियो सामने आ रहे हैं, जिनमें देखा जा रहा है कि लोग विरोध प्रदर्शन के नाम पर गाड़‍ियों और दुकानों में आग लगा रहे हैं। इसी हिंसा में दिल्‍ली पुलिस के एक हेड कांस्‍टेबल की भी मौत हो गई है।

दिल्‍ली हिंसा में मारे गए पुलिसकर्मी की पत्‍नी को मिली टीवी से खबर
x

नई दिल्‍ली, 24 फरवरी: दिल्‍ली में नागरिकता कानून के विरोध में हिंसा कई इलाकों में फैल चुकी है। मीडिया पर लगातार हिंसा के वीडियो सामने आ रहे हैं, जिनमें देखा जा रहा है कि लोग विरोध प्रदर्शन के नाम पर गाड़‍ियों और दुकानों में आग लगा रहे हैं। इसी हिंसा में दिल्‍ली पुलिस के एक हेड कांस्‍टेबल की भी मौत हो गई है। हेड कांस्‍टेबल एसीपी गोकुलपुरी के ऑफिस में तैनात था और वह हिंसा करने वाले प्रदर्शनकारियों को रोकने गया था, लेकिन लोगों ने उसपर पथराव कर दिया, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया।



बताया जा रहा है कि रतन लाल के परिवार को उसकी खबर मीडिया में आ रही खबरों को देखकर मिली। टीवी पर हेडलाइन देखकर घर मारे गए हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की पत्नी पूनम बेहोश हो गई। रतन लाल मूल रूप से राजस्थान के रहने वाले थे। वह परिवार के साथ बुराड़ी के अमृत विहार में रहते थे। परिवार में पत्नी पूनम, दो बेटियां और एक 9 साल का बेटा है। तीनों बच्चे अभी पढ़ रहे हैं।


उत्तर पूर्वी दिल्ली में लगी धारा 144


पुलिस ने उत्तर पूर्वी दिल्ली के संवेदनशील इलाकों में धारा 144 लगा दी है। मिली जानकारी के अनुसार, अगर दिल्‍ली के इन इलाकों में हालत नहीं सुधरे तो कर्फ्यू पर भी विचार किया जा सकता है। दिल्‍ली के भजनपुरा इलाके में हालात सबसे ज्‍यादा तनावपूर्ण बताए जा रहे हैं। यहां पर बड़ी संख्या में पुलिस बल और इलाके के लोग मौजूद हैं। हिंसा करने वाले लोगों ने इमारतों में भी आग लगाई है और गाड़ियों को भी काफी नुकसान पहुंचाया गया है।



बंद हुए से मेट्रो स्‍टेशन


मिली जानकारी के अनुसार, हालात बिगड़ता देख दिल्ली मेट्रो ने जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, गोकुलपुरी, जौहरी एन्क्लेव और शिव विहार स्टेशनों के एंट्री और एग्जिट गेटों को बंद कर दिया है। अब उस रास्ते पर मेट्रो ट्रेनें वेलकम मेट्रो स्टेशन तक ही जाएंगी। दिल्ली हिंसा पर पुलिस का बयान भी सामने आया है। पुलिस के अनुसार, मौजपुर, करदमपुरी, चांद बाग और दयालपुर इलाके में ज्‍यादा हिंसा हुई है। पुलिस ने उत्तर पूर्वी दिल्ली समेत पूरी दिल्ली के लोगों को शांति बरतें की अपील की है। पुलि ने लोगों से अफवाहों से बचने की सलाह देते हुए उपद्रवियों को कड़ी कार्रवाई की चेतावनी भी दी है।



पेट्रोल पंप भी फूंका, पुलिसकर्मी की मौत


मिली जानकारी के अनुसार, दिल्‍ली के भजनपुरा में प्रदर्शनकारियों ने एक पेट्रोल पंप को आग के हवाले कर दिया और कई गाड़ियों में भी आगजनी की। खबर यह भी सामने आ रही है कि हिंसा में एक पुलिसकर्मी की मौत भी हो गई है, जबकि कई घायल हो गए हैं। एसीपी गोकुलपुरी के ऑफिस में तैनात हेड कॉन्स्टेबल रत्न लाल की इस हिंसा में मौत हो गई है। वह गोकुलपुरी में हिंसक भीड़ के पत्थरों से घायल हुआ था। इसी के साथ दिल्‍ली में भजनपुरा के पास चांद बाग इलाके में पत्थरबाजी की खबर सामने आई है। मौजपुर में भी लोग सड़क पर उतर गए हैं और पत्‍थरबाजी की घटना को अंजाम दिया। बताया जा रहा है कि कुछ नकाबपोश पत्थरबाजी की घटना को अंजाम देने में लगे हुए हैं।



केजरीवाल-सिसोदिया बोले- शांति बनाएं रखे


जानकारी मिल रही है कि यह तनाव अब गलियों में भी फैल गया है। अब नूर-ए-इलाही और कर्दमपुरी जगह पत्थरबाजी हो रही है। दिल्ली के सीएम अरविंद के केजरीवाल ने राजधानी के बेकाबू हालात को देखते हुए चिंता व्यक्त की है। उन्होंने कहा है कि मैं ईमानदारी से गृहमंत्री और दिल्ली के उपराज्यपाल से अपील करता हूं कि वह जल्द कानून व्यवस्था को काबू में करने के लिए कदम उठाए। दिल्‍ली के उप मुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीटर पर लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। उन्‍होंने लिखा, ''सभी दिल्‍लीवासियों से अपील है कि वह शांति बनाए रखें। हिंसा में सबका नुकसान है। हिंसा की आग सबको नुकसान पहुंचाती है जिसकी भरपाई कभी नहीं हो सकती।

Next Story