नागालैंड नरसंहार व कोविड से हुई मौतों पर एक शब्द नहीं कहा: राष्ट्रपति के अभिभाषण पर बोले मनीष तिवारी

संसद के बजट सत्र की शुरुआत हो गई है। मनीष तिवारी ने कहा, 'राष्ट्रपति ने नागालैंड में नागरिकों के नरसंहार या कोविड -19 की दूसरी लहर के दौरान हुई मौतों के बारे में कुछ नहीं कहा।'

नागालैंड नरसंहार व कोविड से हुई मौतों पर एक शब्द नहीं कहा: राष्ट्रपति के अभिभाषण पर बोले मनीष तिवारी
x

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने संसद में बजट सत्र से पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर प्रतिक्रिया दी है। उनका मानना है कि ऐसे कई मुद्दे रहे, जिनपर राष्ट्रपति ने कुछ नहीं कहा। मनीष तिवारी ने कहा, 'राष्ट्रपति ने नागालैंड में नागरिकों के नरसंहार या कोविड -19 की दूसरी लहर के दौरान हुई मौतों के बारे में कुछ नहीं कहा।'


उन्होंने कहा, 'राष्ट्रपति के अभिभाषण में जम्मू और कश्मीर के राज्य का दर्जा बहाल करने के बारे में कुछ भी नहीं था। तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जा और भारत पर इसके आतंकी प्रभाव का उल्लेख भी उनके संबोधन में नहीं किया गया।' साथ ही उन्होंने ट्वीट करते हुए चीन व पाक को लेकर भी सवाल उठाए। इस बीच, संसद के बजट सत्र की शुरुआत हो गई है। दोनों सदनों में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के बाद बजट सत्र शुरू हुआ। अपने अभिभाषण के दौरान राष्ट्रपति ने सरकार द्वारा किए गए काम-काज का उल्लेख किया। इसके बाद निर्मला सीतारमण ने इकोनॉमिक सर्वे पेश किया।



और पढ़िए – Economic Survey 2022: वित्त मंत्री ने पेश किया आर्थिक सर्वेक्षण, 8 से 8.5 फीसदी ग्रोथ का जताया अनुमान



राष्ट्रपति कोविंद ने अपने संबोधन के दौरान स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि दी। कोविंद ने कहा, 'सरकार ने नेताजी को उनकी 125वीं जयंती पर सम्मानित किया है।' राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, 'भारत ने कोविड के दौरान एक टीम के रूप में काम किया। भारत के टीकाकरण कार्यक्रम ने विश्व रिकॉर्ड बनाया है। 90% से अधिक वरिष्ठ नागरिकों को टीके की कम से कम एक खुराक मिल चुकी है।'


उन्होंने आगे कहा, 'सरकार यह सुनिश्चित करने के प्रयास में है कि कोई भी भूखा न सोए।' बता दें कि बजट सत्र का पहला भाग 31 जनवरी से 11 फरवरी तक चलेगा। बजट सत्र का दूसरा भाग 14 मार्च से 8 अप्रैल तक चलेगा। बता दें कि भारत की पहली पूर्णकालिक महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को वित्त वर्ष 2022-23 के लिए बजट पेश करेंगी।



और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Next Story