Maharashtra Political Crisis: भाजपा को सत्ता से उखाड़ फेंकने के लिए शिवसेना से एनसीपी-कांग्रेस ने मिलाया था हाथ

महाराष्ट्र में हो रहे सियासी घमासान के बाद हजारों की संख्या में शिवसेना समर्थक उद्धव ठाकरे के घर के बाहर पहुंच गए। सरकार के समर्थन में जमकर नारेबाजी की। वहीं उद्धव के नेतृत्व में पार्टी नेताओं की बैठक जारी है।

Maharashtra Political Crisis: भाजपा को सत्ता से उखाड़ फेंकने के लिए शिवसेना से एनसीपी-कांग्रेस ने मिलाया था हाथ
x

नई दिल्लीः महाराष्ट्र में हो रहे सियासी घमासान के बाद हजारों की संख्या में शिवसेना समर्थक उद्धव ठाकरे के घर के बाहर पहुंच गए। सरकार के समर्थन में जमकर नारेबाजी की। वहीं उद्धव के नेतृत्व में पार्टी नेताओं की बैठक जारी है। आपको बताते हैं कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 में क्या सीटों का गणित।





और पढ़िए – MSP पर पंजाब में मूंग की फसल की सुचारू खरीद शुरू, किसानों की तरफ से सीएम मान की हो रही सराहना




महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 के नतीजों में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में भाजपा सामने आई थी। भाजपा ने चुनाव में कुल 105 सीटें जीती थीं, लेकिन बहुमत 144 सीटों पर ही सिद्ध होता, जो किसी भी पार्टी के पास नहीं था। इसी बीच लंबे समय तक गठबंधन के बाद शिवसेना और भाजपा में दरार आ गई। शिवसेना ने भाजपा के साथ सरकार बनाने से इनकार कर दिया। इसके बाद शिवसेना, नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और कांग्रेस के साथ मिल कर सरकार बनाई। लिहाजा शिवसेना से करीब 154 विधायकों के साथ सरकार बनाने का दावा पेश किया और सरकार भी बनाई। 


एकनाथ शिंदे के साथ 26 विधायकों के नॉट रीचेवल होने के बाद शिवसेना की मुश्किलें बढ़ गई हैं। 154 विधायकों के साथ सरकार बनाने वाली शिवसेना के खेमे से 26 विधायकों के बागी होने पर संख्या बल मात्र 128 बचा है। जबकि बहुमत का आंकड़ा 144 है। देखना यह है कि ये राजनीतिक भूचाल किस ओर और कब थमता था।






और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें






Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story