झारखंड रोपवे हादसा: बचाव अभियान में शामिल जवानों से बातचीत करेंगे पीएम मोदी

देवघर में प्रसिद्ध बाबा बैद्यनाथ मंदिर से करीब 20 किलोमीटर दूर त्रिकूट हिल्स पर रविवार को ट्रॉलियों के टकराने के कारण रोपवे ठप पड़ गया, जिस कारण 60 से अधिक पर्यटक केबल कारों में 46 घंटे से अधिक समय तक फंसे रहे। उन्हें भारतीय वायु सेना, सेना, आईटीबीपी, एनडीआरएफ और जिला प्रशासन की संयुक्त टीमों ने निकाला।

झारखंड रोपवे हादसा: बचाव अभियान में शामिल जवानों से बातचीत करेंगे पीएम मोदी
x

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार शाम भारतीय वायुसेना, थल सेना, एनडीआरएफ, आईटीबीपी के जवानों और स्थानीय प्रशासन और नागरिक समाज के सदस्यों से बातचीत जो झारखंड की रोपवे दुर्घटना के बाद बचाव अभियान में शामिल थे। 


देवघर में प्रसिद्ध बाबा बैद्यनाथ मंदिर से करीब 20 किलोमीटर दूर त्रिकूट हिल्स पर रविवार को ट्रॉलियों के टकराने के कारण रोपवे ठप पड़ गया, जिस कारण 60 से अधिक पर्यटक केबल कारों में 46 घंटे से अधिक समय तक फंसे रहे। उन्हें भारतीय वायु सेना, सेना, आईटीबीपी, एनडीआरएफ और जिला प्रशासन की संयुक्त टीमों ने निकाला। हादसे में चार लोगों की मौत हो गई।


प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने कहा, 'आज रात 8 बजे, पीएम नरेंद्र मोदी भारतीय वायुसेना, भारतीय सेना, एनडीआरएफ, आईटीबीपी, स्थानीय प्रशासन और नागरिक समाज के लोगों के साथ बातचीत करेंगे, जो देवघर में बचाव कार्यों में शामिल थे।'


बता दें कि इस हादसे के बाद एक रिपोर्ट सामने आई, जिसमें कहा गया कि सरकार समर्थित एजेंसी ने लगभग तीन सप्ताह पहले रोपवे का सुरक्षा ऑडिट किया था और 24 स्थानीय कमियों की ओर इशारा किया था। कहा गया था कि निगरानी रखी जानी चाहिए। द इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार, रिपोर्ट में सिफारिश की गई थी कि रस्सी को साफ रखा जाना चाहिए और जंग से बचाया जाना चाहिए। रस्सी सात साल से अधिक पुरानी है। अगर कोई असामान्यता नजर आती है तो रस्सी को तुरंत बदला जा सकता है।





और पढ़िए – जम्मू-कश्मीर में 2019 के बाद से कम हुआ आतंकवाद, इन क्षेत्रों में हुआ विकास



झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रोपवे हादसे की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा, 'त्रिकूट रोपवे पर हुई घटना और उसमें हुई मौतों पर मैं अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। मामले की उच्च स्तरीय जांच होगी।' त्रिकुट रोपवे भारत का सबसे ऊंचा वर्टिकल रोपवे है। यह लगभग 766 मीटर लंबा है।






और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें








Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story