International Yoga Day 2022: अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस आज, जानिए क्या है इस योग दिवस की थीम और इतिहास

International Yoga Day 2022: भारत समेत दुनिया भर में आज 8वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) मनाया जा रहा है।

International Yoga Day 2022: अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस आज, जानिए क्या है इस योग दिवस की थीम और इतिहास
x

International Yoga Day 2022: भारत समेत दुनिया भर में आज 8वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) मनाया जा रहा है। इस मौके पर दुनियाभर में लोग जगह-जगह इकट्ठा होकर योग कर रहे हैं और लोगों में योग के प्रति जागरूकता फैलाने का काम कर रहे हैं। दरअसल शरीर को निरोगी रखने के लिए योग बहुत ही जरूरी है। योग से मनुष्य स्वस्थ रहता है, साथ ही फिट रहकर वो लंबे जीवन को प्राप्त करता है। योग का मानव जीवन में महत्व देखते हुए साल 2015 से पूरे विश्व में 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) मनाया जा रहा है।  





और पढ़िए – International Yoga Day 2022: पीएम मोदी समेत इन मंत्रियों ने यहां किया योग, देखिए तस्वीरें





अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2022 की थीम 

योग दिवस पर हर साल नई थीम रखी जाती है, जिसे लेकर लोग काफी एक्साइटेड होते हैं। आयुष मंत्रालय की ओर से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस साल 'योगा फॉर ह्यूमैनिटी' (Yoga For Humanity) थीम चुनी गई है। जिसका मतलब है मानवता के लिए योग। इस साल इसी थीम को ध्यान में रखते हुए पूरी दुनिया में योग दिवस मनाया जाएगा।


अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का इतिहास 

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाने की शुरुआत साल 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की थी। प्रधानमंत्री मोदी ने संयुक्त राष्ट्र संघ की बैठक में योग दिवस मनाने का प्रस्ताव रखा था। 11 दिसंबर 2014 को इस बात की घोषणा की गई कि हर साल 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाया जाएगा। दरअसल भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 सितंबर 2014 को संयुक्त महासभा में दुनियाभर में योग दिवस मनाने का आह्वान किया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्ताव को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने स्वीकार कर लिया। 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने का ऐलान किया।


21 जून को क्यों मनाया जाता है विश्व योग दिवस

इसके पीछे की मुख्य वजह ये है कि, 21 जून को उत्तरी गोलार्द्ध का सबसे लंबा दिन होता है, जिसे लोग ग्रीष्म संक्रांति भी कहते हैं। भारतीय परंपरा के मुताबिक, ग्रीष्म संक्रांति के बाद सूर्य दक्षिणायन होता है। माना जाता है कि सूर्य दक्षिणायन का समय आध्यात्मिक सिद्धियां प्राप्त करने के लिए फायदेमंद है। साथ ही योग करने से लोगों की आयु भी लंबी होती है। इसी को देखते हुए योग दिवस हर साल 21 जून को मनाया जाता है। सबसे पहला अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस साल 2015 के 21 जून को मनाया गया था। 


योग का मानव जीवन में महत्व

शरीर और मन की शांति के लिए योग बहुत जरूरी है। योग करने से शरीर स्वस्थ रहता है। साथ ही योग से मानव जीवन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। प्रतिदिन योग करने से शारीरिक और मानसिक बीमारियां दूर रहती है। बढ़ते तनाव को कम करने और लाइफस्टाइल से पैदा होने वाली समस्याओं को योग से दूर किया जा सकता है। योग करने से शरीर मजबूती बनता है। योग से शारीरिक और मानसिक ऊर्जा में वृद्धि होती है।






और पढ़िए – International Yoga Day 2022: PM मोदी ने मैसूर में 15 हजार लोगों के साथ किया योग, बोले- ये सुख, स्वास्थ्य और शांति को सेलिब्रेट करने का दिन





योग करने वाले लोग फिट होने के साथ ही इम्यूनिटी के मामले में भी दूसरे लोगों से बेहतर होते हैं। इसी को देखते हुए बाकी लोगों ने भी खुद के हेल्थ का ख्याल रखते हुए योग करना शुरू किया है। साथ ही बॉलीवुड जगत के सितारे समेत खुद पीएम मोदी भी योग कर लोगों को फिटनेस के प्रति मोटिवेट करते देखे जाते हैं। 








और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें






Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story