दिल्ली में बीजेपी के बुलडोजर चलते रहे तो 63 लाख लोग होंगे बेघर: अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी (आप) के विधायकों के साथ सिविल लाइंस में अपने आवास पर नागरिक निकाय द्वारा राष्ट्रीय राजधानी में अतिक्रमण विरोधी अभियान को लेकर बैठक की।

दिल्ली में बीजेपी के बुलडोजर चलते रहे तो 63 लाख लोग होंगे बेघर: अरविंद केजरीवाल
x

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी (आप) के विधायकों के साथ सिविल लाइंस में अपने आवास पर नागरिक निकाय द्वारा राष्ट्रीय राजधानी में अतिक्रमण विरोधी अभियान को लेकर बैठक की। उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी में गंदगी और अवैध संपत्तियों के लिए एमसीडी में भाजपा के 15 साल के कुशासन की आलोचना करते हुए कहा कि दिल्ली को योजनाबद्ध तरीके से नहीं बनाया गया है।


केजरीवाल ने बीजेपी से पूछा, "दिल्ली के 80 प्रतिशत से अधिक को अवैध और अतिक्रमित कहा जा सकता है। क्या इसका मतलब यह है कि आप 80 प्रतिशत दिल्ली को नष्ट कर देंगे?"


उन्होंने कहा, "वे बुलडोजर के साथ कॉलोनियों में पहुंच रहे हैं और किसी भी दुकान और घर को तोड़ रहे हैं। अगर लोग उन्हें यह साबित करने के लिए कागजात दिखाते हैं कि संरचना अवैध नहीं है, तो वे उनकी जांच नहीं करते हैं।"


केजरीवाल ने एमसीडी को भी आड़े हाथ लिया और कहा कि अगर दिल्ली में 63 लाख लोगों की दुकानों और घरों को बुलडोजर से तोड़ दिया जाता है, जिन्हें अवैध माना जाता है, तो यह स्वतंत्र भारत में "सबसे बड़ी तबाही" होगी।



और पढ़िए – 'बुलडोजर राजनीति' का मुकाबला करने के लिए विधायकों संग बैठक करेंगे सीएम अरविंद केजरीवाल







बीजेपी जिस तरह से अतिक्रमण विरोधी अभियान चला रही है, आम आदमी पार्टी के खिलाफ है। उन्होंने कहा, ''लगभग 50 लाख लोग अनधिकृत कॉलोनियों में रहते हैं, 10 लाख 'झुग्गियों' में रहते हैं और लाखों लोग हैं जिन्होंने बालकनियों को बदला है या कुछ ऐसा किया है, जो मूल नक्शे के अनुरूप नहीं है।''


उन्होंने कहा, "मतलब 63 लाख लोगों के घरों और दुकानों को बुलडोजर चला दिया जाएगा। आजाद भारत में यह सबसे बड़ी तबाही होगी।"


यह कहते हुए कि आम आदमी पार्टी अतिक्रमण के खिलाफ है और चाहती है कि दिल्ली सुंदर दिखे, उन्होंने कहा कि 63 लाख लोगों के घरों और दुकानों को तोड़ना बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने लोगों को आश्वासन दिया कि आप अतिक्रमण की समस्या का समाधान करेगी और अनधिकृत कॉलोनियों में रहने वाले लोगों को मालिकाना हक मिलेगा।






और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें








 

Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story