गुजरात: रामनवमी पर हुई हिंसा में पुलिस का बड़ा खुलासा, 'स्लीपर सेल' कनेक्शन आया सामने, मौलवी निकला मास्टरमाइंड

मौलवी मुस्तकिन इन दंगों की साजिश का मास्टरमाइंड है और वह अब फरार है। इस मामले में यह भी सामने आया है कि लड़कों को पथराव के लिए बाहर से लाया गया था और उन्हें आर्थिक और कानूनी मदद का आश्वासन दिया गया था।

गुजरात: रामनवमी पर हुई हिंसा में पुलिस का बड़ा खुलासा, स्लीपर सेल कनेक्शन आया सामने, मौलवी निकला मास्टरमाइंड
x

गांधीनगर: गुजरात के आणंद में हुए रामनवमी दंगों के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस का कहना है कि यह हिंसा पूर्व नियोजित साजिश के तहत की गई। मौलवी मुस्तकिन इन दंगों की साजिश का मास्टरमाइंड है और वह अब फरार है। इस मामले में यह भी सामने आया है कि लड़कों को पथराव के लिए बाहर से लाया गया था और उन्हें आर्थिक और कानूनी मदद का आश्वासन दिया गया था। कब्रिस्तान से पथराव करना सही समझा गया, क्योंकि वहां पत्थर आसानी से मिल सकते थे।


पुलिस ने दंगों की साजिश में जमशेद पठान नाम के एक शख्स को भी गिरफ्तार किया है। गुजरात पुलिस ने कहा है कि आणंद जिले के खंभात में रामनवमी जुलूस के दौरान हुई हिंसा एक पूर्व नियोजित साजिश थी। दरअसल, यहां जिस तरह से पथराव किया गया और जिस जगह पर पथराव किया गया, राज्य के खुफिया विभाग को शक हुआ, जिसके बाद राज्य एटीएस से जांच शुरू की गई। फिर जब इस मामले का आरोपी जमशेद पठान पकड़ा गया तो उसने साजिश के मास्टरमाइंड मौलवी मुस्तकिन के बारे में बताया।



और पढ़िए - टीचर-छात्र के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद दिल्ली का एक स्कूल बंद




मौलवी मुस्तकिन ने रामनवमी पर रथ यात्रा को रोकने की साजिश रची थी। उसने वसीम और वाजिद को कानूनी कार्रवाई का सामना करने के लिए तैयार किया था। इस मामले में पैसे का प्रबंधन मतिन अल्टी और उनके भाइयों मोहसिन और आजाद ने किया था। इसके अलावा लड़कों को चिंटू फरीद, रज्जाक पटेल, अख्तर, नसीर और जाहिद ने बारात रोकने के लिए बुलाया। प्राथमिकी में अल्टी और उसके भाइयों को छोड़कर सभी के नाम हैं।






और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें









Click Here - News 24 APP अभी download करें


Next Story