असम में बाढ़ से तबाही, अब तक 7 लोगों की मौत, ट्रेनें पलटी, गांव के गांव डूब गए

असम में भारी बारिश के बाद बाढ़ ने तबाही मचा दी है। राज्य के कई जिले बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं। भूस्खलन से अब तक 7 लोगों की जान चली गई है। पहाड़ी इलाके में ट्रेन की बोगियां टूटकर बिखर गई हैं।

असम में बाढ़ से तबाही, अब तक 7 लोगों की मौत, ट्रेनें पलटी, गांव के गांव डूब गए
x

गुवाहाटी: असम फिर से बाढ़ की चपेट में है। राज्य के कई जिले भारी बारिश के बाद बाढ़ की पानी और भूस्खलन की चपेट में आ गए। राज्य के कछार, चराईदेव, दरांग, धेमाजी, डिब्रूगढ़ और दीमा हसाओ सहित 24 जिलों में अब तक 2 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। भूस्खलन से अब तक 7 लोगों की जान चली गई है। पहाड़ी इलाके में ट्रेन की बोगियां टूटकर बिखर गई हैं। चारों तरफ पानी ही पानी और कीचड़ दिखाई दे रहा है। दो दिन पहले तक यह रेलवे प्लेटफॉर्म हुआ करता था लेकिन अब कीचड़ में धंस चुका है।


असम स्टेट डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी के अनुसार, बारिश के बाद हुई लैंडस्लाइड के बाद पहाड़ी जिला दीमा हसाओ राज्य के बाकी हिस्सों से कट गया है। कम्युनिकेशन पूरी तरह बंद है। हाफलोंग की ओर जाने वाली सभी सड़कें और रेलवे लाइन 15 मई से बंद हैं। लगातार हो रही बारिश के कारण कई सड़कें, पुल टूट चुके हैं। 


बाढ़ से 20 जिलों के कुल 652 गांव अब तक प्रभावित हुए हैं। लोगों को राहत देने के लिए सात जिलों में करीब 55 राहत शिविर खोले गए हैं, जिसमें 32 हजार 959 लोगों को आश्रय दिया गया है। NDRF, सेना, SDRF के जवान बाढ़ प्रभावित इलाकों में बचाव और राहत अभियान में जुटे हैं। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने बताया है कि बाढ़ से होजाई में 78,157 और कछार में 51,357 लोग प्रभावित हुए हैं।


गुवाहाटी के कई इलाके पानी से लबालव भरे हुए हैं। बिजली के खंभे टूट चुके हैं जिससे बिजली सप्लाई में दिक्कत आ रही है। इस बीच मौसम विभाग ने केरल में भारी बारिश की चेतावनी दी है और मलप्पुरम, कोझीकोड, कन्नूर और कासरगोड जिलों सहित चार जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।




Next Story