यूपी चुनाव 2022: अखिलेश यादव ने दाखिल किया मैनपुरी के करहल से नामांकन

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मैनपुरी के करहल से पर्चा दाखिल कर दिया है। उनके यहां पहुंचने से पहले सपा नेता रामगोपाल यादव नामांकन स्थल पर पहुंचे थे। यह पहली बार है, जब चार बार के सांसद अखिलेश यादव किसी विधानसभा सीट पर चुनाव लड़ेंगे।

यूपी चुनाव 2022: अखिलेश यादव ने दाखिल किया मैनपुरी के करहल से नामांकन
x

नई दिल्ली: सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मैनपुरी के करहल से पर्चा दाखिल कर दिया है। उनके यहां पहुंचने से पहले सपा नेता रामगोपाल यादव नामांकन स्थल पर पहुंचे थे। यह पहली बार है, जब चार बार के सांसद अखिलेश यादव किसी विधानसभा सीट पर चुनाव लड़ेंगे।


उत्तर प्रदेश में सात चरणों में होने वाले विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण में 20 फरवरी को करहल में मतदान होना है। जब से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की विधानसभा चुनाव में उम्मीदवारी की अटकलें सामने आई थीं, तब से अखिलेश के भी 2022 का चुनाव लड़ने की बात चल रही थी। गोरखपुर शहरी सीट से बीजेपी ने योगी आदित्यनाथ को मैदान में उतारा है।



और पढ़िए –करहल सीट से अखिलेश यादव के खिलाफ बीजेपी ने इस नेता को बनाया उम्मीदवार




योगी आदित्यनाथ और अखिलेश यादव सांसद रहे हैं, लेकिन उन्होंने कभी विधानसभा चुनाव नहीं लड़ा। जब उन्होंने मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली तो दोनों ने यूपी विधानमंडल के सदस्य बनने के लिए विधान परिषद का रास्ता अपनाया।




करहल 1993 से समाजवादी पार्टी का गढ़ है, केवल एक बार 2002 के विधानसभा चुनाव में यह सीट बीजेपी के खाते में गई थी। सोबरन सिंह यादव (समाजवादी पार्टी) करहल से मौजूदा विधायक हैं। 2002 में जब उन्होंने यह सीट जीती थी, तब वह भाजपा के साथ थे। बाद में वह सपा में आ गए और 2007 से उसके टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। मैनपुरी, जिसमें करहल विधानसभा क्षेत्र आता है, सपा के मुख्य संरक्षक मुलायम सिंह यादव का लोकसभा क्षेत्र है।


भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अभी तक करहल विधानसभा सीट से अपने उम्मीदवार की घोषणा नहीं की है। सूत्रों ने बताया कि बीजेपी इस सीट से अखिलेश यादव के छोटी भाई की बहू अपर्णा यादव को इस सीट से उतार सकती है।


समाजवादी पार्टी आगामी राज्य विधानसभा चुनाव राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के साथ गठबंधन में लड़ रही है। उत्तर प्रदेश में अगली सरकार बनाने का भरोसा जताते हुए समाजवादी पार्टी प्रमुख ने कहा कि जनता पहले ही अपना फैसला सुना चुकी है।


उत्तर प्रदेश की 403 सदस्यीय विधानसभा के लिए सात चरणों में 10 फरवरी से सात मार्च तक मतदान होगा। मतों की गिनती 10 मार्च को होगी।



और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Next Story