राणा दंपत्ति को कोर्ट से राहत, जमानत रद्द करने वाली याचिका पर सुनवाई 15 जून तक टली

दोनों के खिलाफ दर्ज की गई जमानत रद्द करने वाली याचिका पर कोर्ट ने सुनवाई 15 जून तक के लिए टाल दिया है। आपको बता दें कि अदालत की और से राणा दंपत्ती को जमानत की शर्तों के उल्लंघन के मामले को लेकर 18 मई तक रिप्लाई फ़ाइल करने को कहा था।

राणा दंपत्ति को कोर्ट से राहत, जमानत रद्द करने वाली याचिका पर सुनवाई 15 जून तक टली
x

राहुल पांडेय, मुंबई। अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा को अदालत से राहत मिली है। दोनों के खिलाफ दर्ज की गई जमानत रद्द करने वाली याचिका पर कोर्ट ने सुनवाई 15 जून तक के लिए टाल दिया है। आपको बता दें कि अदालत की और से राणा दंपति को जमानत की शर्तों के उल्लंघन के मामले को लेकर 18 मई तक रिप्लाई फ़ाइल करने को कहा था। आज अदालत में राणा दंपति के वकील रिज़वान मर्चेंट ने रिप्लाई फ़ाइल किया है। जिसपर अगली सुनवाई 15 जून को होगी। 


इसके अलावा राणा के वकील ने आज के लिए कोर्ट में दोनों के उपस्थित से छूट की अर्जी दी थी, जिसे कोर्ट ने मंजूर कर लिया। अधिवक्ता रिज़वान मर्चेंट ने कहा कि हमने शर्तो का कोई उल्लंघन नहीं किया है। हनुमान चालीसा पढ़ने पर कोई रोक नहीं लगा सकता। ये हमारा मूलभूत अधिकार है। केस हनुमान चालीसा मातोश्री पर पढ़ने पर है जिसपर हमने कुछ नहीं बोला है। 


सरकारी वकील प्रदीप घरत ने बताया कि आज हमें पता चला कि नोटिस की कॉपी दी नहीं गई थी क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने 124 A पर अगली सुनवाई तक स्टे लगाया है।

लेकिन हमने कहा कि मामला सिर्फ 124A  पर नहीं है दूसरी भी धाराएं लगी हैं, इसलिए उल्लंघन का मामला उन धाराओं के तहत भी बनता है। आपको बता दें कि सरकारी पक्ष ने जमानत की शर्तो के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए राणा दंपती के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करने की मांग की थी। 


गौरतलब है कि जमानत देते हुए अदालत राणा दंपति के सामने कई शर्ते रखी थी। जिसमें से एक शर्त यह भी था कि मीडिया में बयान न जारी करे। जमानत मिलने के बाद नवनीत राणा को सीधे लीलावती अस्पताल के भर्ती कराया गया था। अस्पताल से डिस्चार्ज मिलने के बाद नवनीत और रवि राणा ने टीवी चैंनलों से बातचीत की और उद्धव सरकार को आड़े हाथ लिया था।

Next Story