श्रमिकों को केजरीवाल सरकार की बड़ी सौगात, महंगाई भत्ता बढ़ाने का फैसला लिया, न्यूनतम मजदूरी बढ़ी

केजरीवाल सरकार ने शुक्रवार को मजदूरों को बड़ी सौगात देते हुए महंगाई भत्ता (डीए) बढ़ाने का फैसला लिया है।

श्रमिकों को केजरीवाल सरकार की बड़ी सौगात, महंगाई भत्ता बढ़ाने का फैसला लिया, न्यूनतम मजदूरी बढ़ी
x

नई दिल्ली: केजरीवाल सरकार ने शुक्रवार को मजदूरों को बड़ी सौगात देते हुए महंगाई भत्ता (डीए) बढ़ाने का फैसला लिया है। महंगाई भत्ते में नवीनतम संशोधन के साथ, अकुशल श्रमिकों का मासिक वेतन 16,064 रुपये से बढ़ाकर 16,506 रुपये प्रति माह कर दिया गया है। इसी तरह अर्धकुशल मजदूरों का वेतन 17,693 रुपये से बढ़ाकर 18,187 रुपये प्रतिमाह किया गया है।


दिहाड़ी मजदूरों के वेतन में वृद्धि के बारे में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने एक बयान में कहा, ''बढ़ती महंगाई के बीच मजदूर वर्ग के हित में उठाया गया यह एक बड़ा कदम है. दिल्ली सरकार ने राजधानी में अकुशल श्रमिक वर्ग के लिए महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी की है। इस कदम से दिल्ली सरकार के तत्वावधान में सभी अनुसूचित रोजगार में अकुशल, अर्ध-कुशल, कुशल और अन्य श्रमिकों को लाभ होगा।''



और पढ़िए – कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में राहुल ने बीजेपी और संघ पर बोला हमला, कहा- आवाज को दबाने की कोशिश कर रही है बीजेपी



उन्होंने कहा, ''ये कदम गरीबों और मजदूर वर्ग के हित में उठाया गया है, जिन्हें मौजूदा महामारी के कारण बेतहाशा नुकसान उठाना पड़ा है। असंगठित क्षेत्र में न्यूनतम मजदूरी पर कार्यरत लोगों को भी महंगाई भत्ते का लाभ मिलना चाहिए, जो आमतौर पर राज्य और केंद्र सरकार के कर्मचारियों को दिया जाता है।''

उल्लेखनीय है कि सरकार द्वारा मजदूरी में संशोधन के बाद अकुशल मजदूरों का मासिक वेतन 16,064 रुपये से बढ़ाकर 16,506 रुपये कर दिया गया है।

अर्धकुशल श्रमिकों के लिए मासिक वेतन 17,693 रुपये से बढ़ाकर 18,187 रुपये कर दिया गया है। कुशल श्रमिकों के लिए मजदूरी 19,473 रुपये से बढ़ाकर 20,019 रुपये प्रति माह कर दी गई है।



और पढ़िए – ज्ञानवापी में मिले शिवलिंग पर आपत्तिजनक पोस्ट करने पर दिल्ली यूनिवर्सिटी का एसोसिएट प्रोफेसर गिरफ्तार






इसके अतिरिक्त, पर्यवेक्षक और कर्मचारियों के लिपिक संवर्ग के लिए न्यूनतम वेतन दरों को भी संशोधित किया गया है। गैर-मैट्रिक कर्मचारियों के लिए मासिक वेतन 17,693 रुपये से बढ़ाकर 18,187 रुपये और मैट्रिक करने वाले कर्मचारियों के लिए 19,473 रुपये से बढ़ाकर 20,019 रुपये कर दिया गया है। स्नातकों और उच्च शैक्षणिक योग्यता वाले लोगों के लिए मासिक वेतन 21,184 रुपये से बढ़ाकर 21,756 रुपये कर दिया गया है।


मनीष सिसोदिया ने कहा, 'दिल्ली में न्यूनतम मजदूरी किसी भी अन्य राज्य की तुलना में सबसे ज्यादा है। दिल्ली के सभी मजदूरों को महंगाई से राहत दिलाने के लिए दिल्ली सरकार हर 6 महीने में महंगाई भत्ते में लगातार संशोधन कर रही है.'




और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें






Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story