अग्निपथ योजना विवाद: आज थल सेना, नौसेना, वायु सेना प्रमुखों से मिलेंगे पीएम मोदी

अग्निपथ योजना विवाद के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन सशस्त्र बलों भारतीय थल सेना, भारतीय नौसेना और भारतीय वायु सेना के प्रमुखों से मुलाकात करेंगे।

अग्निपथ योजना विवाद: आज थल सेना, नौसेना, वायु सेना प्रमुखों से मिलेंगे पीएम मोदी
x

नई दिल्ली: अग्निपथ योजना विवाद के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन सशस्त्र बलों भारतीय थल सेना, भारतीय नौसेना और भारतीय वायु सेना के प्रमुखों से मुलाकात करेंगे। तीनों सेना प्रमुखों द्वारा योजना के कार्यान्वयन के विभिन्न पहलुओं के बारे में पीएम मोदी को अवगत कराने की संभावना है।


कल, प्रधानमंत्री ने अग्निपथ के पक्ष में बोलते हुए कहा कि कुछ निर्णय "पहले कड़वे लग सकते हैं" लेकिन आने वाले दिनों में फल देंगे।


अग्निपथ योजना में साढ़े 17 वर्ष से 21 वर्ष की आयु के बीच के युवाओं को केवल चार वर्ष के लिए भर्ती करने का प्रावधान है, उनमें से 25% को 15 और वर्षों तक बनाए रखने का प्रावधान है। सरकार ने 2022 में भर्ती के लिए ऊपरी आयु सीमा 23 वर्ष तक बढ़ा दी। नई योजना के तहत भर्ती होने वाले कर्मियों को 'अग्निवर' के रूप में जाना जाएगा।





और पढ़िए – अग्निपथ योजना: भारतीय वायु सेना ने 'अग्निवीर' भर्ती के लिए नोटिफिकेशन किया जारी, यहां देखें पूरी डिटेल





कई विपक्षी दलों के साथ-साथ सैन्य दिग्गजों ने 75% रंगरूटों के चार साल के कार्यकाल पर सवाल उठाते हुए इस योजना की आलोचना की।


हालांकि, केंद्र और कई बिजनेस टाइकून ने विवादास्पद योजना का समर्थन किया है। महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा, टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन और बायोकॉन की चेयरपर्सन किरण मजूमदार-शॉ ने इस योजना का समर्थन किया है। इस बीच, भारतीय सेना ने इस साल जुलाई में शुरू होने वाली पंजीकरण प्रक्रिया के साथ अग्निपथ योजना के तहत अग्निपथ की भर्ती के लिए पहली अधिसूचना जारी की है।


सरकार ने दावा किया है कि 'अग्निपथ' योजना युवाओं को रक्षा प्रणाली में शामिल होने और देश की सेवा करने का सुनहरा मौका देती है। दूसरी ओर विपक्षी पार्टियों, विशेष रूप से कांग्रेस ने कहा कि अग्निपथ कई जोखिमों को वहन करता है, सशस्त्र बलों की लंबे समय से चली आ रही परंपराओं और लोकाचार को नष्ट करता है और इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि इस योजना के तहत भर्ती किए गए सैनिक बेहतर प्रशिक्षित होंगे और देश की रक्षा के लिए प्रेरित किया।









और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें






Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story