असम बाढ़ में 9 की मौत, 27 जिलों में 6 लाख से अधिक प्रभावित

देश में एक तरफ जहां गर्मी ने लोगों का हाल बेहाल किया हुआ है, वहीं दूसरी ओर असम में बाढ़ ने हाहाकार मचाया हुआ है। राज्य के 27 जिलों में फैले 6.6 लाख से अधिक लोग प्री-मानसून बारिश के कारण आई बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। जिस वजह से नौ लोगों की मौत हो चुकी है।

असम बाढ़ में 9 की मौत, 27 जिलों में 6 लाख से अधिक प्रभावित
x

गुवाहाटी: देश में एक तरफ जहां गर्मी ने लोगों का हाल बेहाल किया हुआ है, वहीं दूसरी ओर असम में बाढ़ ने हाहाकार मचाया हुआ है। राज्य के 27 जिलों में फैले 6.6 लाख से अधिक लोग प्री-मानसून बारिश के कारण आई बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। जिस वजह से नौ लोगों की मौत हो चुकी है।





और पढ़िए – यूएन में भारत ने खाद्य कीमतों में अनुचित वृद्धि का मुद्दा उठाया, कहा- अनाज को कोविड के टीके के रास्ते नहीं जाना चाहिए




अधिकारियों ने बताया कि 48,000 से अधिक लोगों को 248 राहत शिविरों में ट्रांसफर किया गया है। होजई और कछार सबसे ज्यादा प्रभावित जिले हैं। प्रत्येक जिले में 1 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं। सेना ने होजई जिले में फंसे 2,000 से अधिक लोगों को बचाव प्रयासों के तहत बचाया है।


दक्षिण असम में दीमा हसाओ जिला आज पांचवें दिन भी कटा हुआ है। बारिश के कारण हुए भूस्खलन ने दीमा हसाओ से सड़क और रेल संपर्क काट दिया है। इसने रविवार से बराक घाटी के साथ-साथ त्रिपुरा, मिजोरम और मणिपुर के महत्वपूर्ण हिस्सों के लिए सड़क और रेल संपर्क भी तोड़ दिया है।


असम सरकार मरने वालों में से प्रत्येक के परिवारों को ₹4 लाख की वित्तीय सहायता प्रदान करेगी।


सरकार ने बराक घाटी से हवाई जहाज संचालित करने के लिए क्षेत्रीय एयरलाइन "फ्लाईबिग" के साथ साझेदारी करने का निर्णय लिया है। टिकट की कीमत 3,000 रुपये तय की गई है, सरकार अतिरिक्त शुल्क वहन करेगी।


पिछले दो दिनों से पूर्वोत्तर राज्यों असम, मेघालय और अरुणाचल प्रदेश में मूसलाधार बारिश हो रही है। गुवाहाटी में मौसम कार्यालय ने अगले चार दिनों में पूरे क्षेत्र में व्यापक बारिश की चेतावनी जारी की है।




और पढ़िए – Weather Update: गर्मी ने निकाला पसीना, मौसम विभाग ने इन इलाकों में दी बारिश की चेतावनी





केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने असम को केंद्र सरकार की ओर से हरसंभव मदद का आश्वासन दिया है। एक ट्वीट में, उन्होंने कहा कि वह पहले ही असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा से बात कर चुके हैं।


राज्य बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति बनाए रखने और संचार चैनलों को बहाल करने के लिए संघर्ष कर रहा है।






और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें






Click Here - News 24 APP अभी download करें

Next Story